18 February 2019



प्रादेशिक
सांईखेड़ा बनेगी नई तहसील - मुख्यमंत्री श्री चौहान
14-02-2013

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सांईखेड़ा को नरसिंहपुर जिले की नई तहसील बनाने की घोषणा की। श्री चौहान ने गाडरवारा के जिला-स्तरीय अंत्योदय मेले में आज विशाल जनसमुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में फीडर सेपरेशन का कार्य तेजी से हो रहा है। नरसिंहपुर जिले के सभी गाँव को मई माह के अंत तक 24 घंटे बिजली मिलने लगेगी। उन्होंने कठौतिया-गाडरवारा में पीतल और दाल मिल समेत अन्य उद्योगों के विकास के लिए 49 करोड़ रूपये की लागत से औद्योगिक क्षेत्र की स्थापना की घोषणा की।

अंत्योदय मेले में 2 लाख 36 हजार 237 हितग्राही को एक अरब 36 करोड़ 13 लाख 50 हजार रूपये से अधिक का लाभ दिया गया। मुख्यमंत्री ने विभिन्न हितग्राही को प्रतीक स्वरूप चेक, स्वीकृति पत्रक, प्रमाण-पत्र आदि वितरित किये। उन्होंने सानिया एवं खुशी को लाड़ली लक्ष्मी योजना के राष्ट्रीय बचत प्रमाण-पत्र भी प्रदान किये। श्री चौहान ने गाडरवारा शहर में विभिन्न विकास कार्यों को करवाने 5 करोड़ की राशि मुहैया करवाने की बात कही। उन्होंने कहा कि गाडरवारा में अनुसूचित जनजाति बालिका छात्रावास भी बनाया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि उत्पादन में नरसिंहपुर जिला अग्रणी बन सकता है, इसके लिए वे कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब किसानों को वर्ष में केवल दो बार ही बिजली का बिल रबी एवं खरीफ की फसल आने पर जमा करना होगा। बिजली बिल की राशि प्रति हार्स पावर 1200 रूपये प्रतिवर्ष के मान से ली जायेगी। यह योजना एक अप्रैल से लागू होगी। पुराने बिजली के बिलों को जमा करने में भी प्रदेश शासन सहूलियत देगा। श्री चौहान ने बताया कि केन्द्र सरकार द्वारा गेंहूँ का समर्थन मूल्य 1350 रूपये प्रति क्विंटल घोषित किया गया है। मध्यप्रदेश सरकार इस समर्थन मूल्य पर प्रति क्विंटल 150 रूपये का बोनस देकर गेंहूँ 1500 रूपये प्रति क्विंटल के मान से खरीदेगी। उद्योगों में 50 प्रतिशत रोजगार स्थानीय लोगों को दिया जायेगा, इसके लिए उद्योगपतियों से एम.ओ.यू. किया गया है। प्रदेश में कौशल विकास केन्द्र विकसित किये जा रहे हैं। प्रदेश में भरपूर बिजली मिलने से गाँव-गाँव में छोटे-छोटे उद्योग लगाये जायेंगे। युवकों को उद्योग लगाने को प्रोत्साहित करने के लिए मुख्यमंत्री स्व-रोजगार योजना एक अप्रैल से लागू की जायेगी। उद्योग लगाने के लिए 25 लाख रूपये तक का ऋण मुहैया करवाया जायेगा, जिसकी गारंटी मध्यप्रदेश सरकार लेगी।

मुख्यमंत्री ने बताया कि अब सभी सरकारी अस्पतालों में सरदार वल्लभ भाई पटेल निःशुल्क औषधि वितरण योजना लागू की गई है। सरकारी अस्पतालों में विभिन्न प्रकार की पैथालॉजी जाँच भी निःशुल्क की जा रही हैं। श्री चौहान ने कहा कि महिला सशक्तिकरण के लिए प्रदेश में अनेक योजनाएँ लागू की गई हैं। केवल बेटी वाले 60 साल से अधिक के दम्पत्तियों के लिए पेंशन का प्रावधान किया गया है। महिलाओं के प्रति अपराधों को गंभीरता से लिया जा रहा है। पंचों से लगाकर सभी निर्वाचित पंचायत प्रतिनिधियों के मानदेय में वृद्धि की गई है। उन्होंने विकास कार्यों में सहयोग के लिए आम जनता को संकल्प भी दिलवाया।

मुख्यमंत्री ने कन्या-पूजन कर और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी तथा पंडित दीनदयाल उपाध्याय के चित्रों के समक्ष दीप जलाकर और माल्यार्पण कर मेले का शुभारंभ किया। अंत्योदय मेले में विभिन्न विभाग समेत जनसम्पर्क विभाग द्वारा विकास प्रदर्शनी लगाई गई।