17 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
अब नेस्ले के खाद्य पदार्थो में मिला घोड़े का मांस
19-02-2013
खाद्य उत्पाद बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी नेस्ले के उत्पादों में भी घोड़े का मांस मिलने की पुष्टि हुई है। नेस्ले ने इटली और स्पेन के बाजारों में अपने दो पास्ता उत्पादों की बिक्री पर रोक लगा दी है। सोमवार को जर्मनी की डिस्काउंट चेन लिडिल ने भी अपने खाद्य पदार्थो में घोड़े का मांस पाए जाने के बाद डेनमार्क, स्विट्जरलैंड और फिनलैंड के बाजार से रेडीमेड उत्पादों को हटा लिया था। स्विट्जरलैंड की कंपनी नेस्ले ने पिछले हफ्ते ही कहा था कि उसके उत्पाद मिलावट से प्रभावित नहीं हैं। मगर सोमवार को जारी बयान में कंपनी ने कहा कि उसके दो उत्पादों में घोड़े का मांस मिलने की पुष्टि हुई है। कंपनी के प्रवक्ता ने कहा कि जर्मनी से आयातित मीट से बने नेस्ले के खाद्य पदार्थो के डीएनए परीक्षण में घोड़े का मांस मिलने की पुष्टि हुई है। हालांकि घोड़े के मांस के अंश बहुत कम हैं, लेकिन यह एक फीसद से ऊपर पाए गए हैं। नेस्ले अपने उन सभी उत्पादों की आपूर्ति पर रोक लगा रही है, जिन्हें बनाने के लिए गाय के मांस की आपूर्ति जर्मन ठेकेदार द्वारा की जाती है। इसके अलावा फ्रांस में निर्मित फ्रोजन मीट की बिक्री पर भी रोक लगा दी गई है। कंपनी ने उपभोक्ताओं से माफी मांगते हुए आश्वासन दिया कि इस मुद्दे से निपटने के लिए कड़े कदम उठाए जाएंगे। दूसरी तरफ फ्रांस में इन्हीं आरोपों में घिरी कंपनी स्पैंगहेरो का लाइसेंस बहाल कर दिया गया है। इस कंपनी पर कथित तौर पर गाय के मांस के नाम पर 750 टन घोड़े का मांस आपूर्ति करने का आरोप है। कंपनी को रेडी टू ईट उत्पादों के निर्माण की अनुमति दे दी गई है। उल्लेखनीय है कि पिछले महीने सबसे पहले आयरिश अधिकारियों ने आयरलैंड और ब्रिटेन की कंपनियों द्वारा बनाए जाने वाले खाद्य उत्पादों में घोड़े का मांस मिलने की पुष्टि की थी। उसके बाद यूरोप के 16 से अधिक देशों में खाद्य उत्पादों में गाय के स्थान पर घोड़े के मांस के इस्तेमाल का मामला सामने आने से हड़कंप मचा है।