17 February 2019



प्रमुख समाचार
पी.सी. एवं पी.एन.डी.टी एक्ट का उल्लघंन करने वालों के विरूद्ध होगी कड़ी कार्यवाही
20-02-2013

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि प्रदेश में पी.सी. एवं पी.एन.डी.टी. एक्ट के विरूद्ध भ्रूण परीक्षण करने वाले सेंटर्स और चिकित्सकों के विरूद्ध प्रशासनिक स्तर पर सख्त कार्यवाही की जाये। डॉ. मिश्रा आज यहाँ गर्भधारण अधिनियम के राज्य सुपरवाईजरी बोर्ड की बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री प्रवीर कृष्ण सहित अन्य अधिकारी और अशासकीय सदस्य के रूप में विधायक श्रीमती शशि ठाकुर मरावी एवं श्रीमती नन्दिनी मरावी उपस्थित थे।

स्वास्थ्य मंत्री ने प्रमुख सचिव को निर्देश दिये कि वे सभी कलेक्टरों को पी.सी. एंड पी.एन.डी.टी. एक्ट के विरूद्ध भ्रूण परीक्षण करने वाले सेंटर्स के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही करने के लिये लिखा जाये। मंत्री ने कहा कि प्रदेश में बेटी बचाओ अभियान चल रहा है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान इस दिशा में काफी संवेदनशील हैं। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को कन्या भ्रूण संरक्षण के प्रति अधिक प्रतिबद्धता दिखानी होगी।

श्री प्रवीर कृष्ण ने कहा कि माह में कम से कम 5 प्रकरण ऐसे केन्द्रों के विरूद्ध बनें, जिनके द्वारा इस एक्ट का उल्लघंन किया जा रहा है। बैठक में विधायक श्रीमती ठाकुर एवं श्रीमती मरावी ने कहा कि एक्ट के संबंध में व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये। राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन की संचालक श्रीमती एम. गीता ने कहा कि जल्दी ही इस विषय पर एक राज्य-स्तरीय कार्यशाला होगी।

बैठक में बताया गया कि पी.सी. एंड पी.एन.डी.टी. कानून के उल्लघंन की ऑनलाइन शिकायत दर्ज करने के लिए वेबसाइट www.hamaribitiya.nic.in  संचालित है। जिला सलाहकार समितियों का गठन जिलों में किया जा चुका है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा सिर्फ बेटियों के माता-पिता के क्लबों का प्रत्येक जिले में गठन एवं राष्ट्रीय पर्वों पर इन माता-पिताओं को सम्मानित करने का निर्णय भी लिया गया है। बैठक में आयुक्त स्वास्थ्य श्री पंकज अग्रवाल, गाँधी मेडिकल कॉलेज के संबंधित विभागाध्यक्ष एवं निजी अस्पतालों के प्रतिनिधि और स्वयंसेवी संगठनों के पदाधिकारी उपस्थित थे।