16 February 2019



राष्ट्रीय
अस्पताल में न आएं वीआइपी, होती है दिक्कत
23-02-2013
हैदराबाद बम धमाकों के बाद यहां के अस्पतालों में मौजूद घायलों को देखने के लिए अभी तक कई वीआइपी यहां का दौरा कर चुके हैं। शुक्रवार को ही यहां पर केंद्रीय गृहमंत्री आए थे और उन्होंने भी अस्पताल का दौरा कर घायलों का हाल-चाल जानने की कोशिश की थी। लेकिन इन सभी के बीच इससे डाक्टरों को मरीजों का इलाज करने में खासी परेशानी आ रही है। लिहाजा उन्होंने सभी वीआइपी से अपील की है कि वह यहां न आए, उनके आने से दिक्कत हो रही है। एक तरफ जांच एजेंसियां हैदराबाद बम धमाके सुराग तलाशने में लगी हैं वहीं धमाकों में घायलों को देखने आने वाले वीआइपी का तांता भी खूब लग रहा है। इसका नतीजा होता है अस्पताल की पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था। लेकिन इस व्यवस्था और वीआइपी लोगों के साथ आने वालों की भीड़ यहां पर मौजूद मरीजों की देखभाल में अड़चन पैदा कर रही है। भारी सुरक्षा के बीच इन बम धमाकों में घायल मरीजों तक पहुंचना डाक्टरों के लिए अब मशक्कत बन गया है। एक-एक कर नेता यहां आ रहे हैं और अपनी संवेदना प्रकट कर रवाना हो जाते हैं। इस बीच अस्पताल के सभी दूसरे जरूरी काम भी धरे के धरे रह जाते हैं। इन वीआईपी दौरों से परेशान डॉक्टरों ने अब सभी वीआईपी लोगों से अपील की है कि वह मरीजों के सही इलाज की खातिर ऐसे दौरे न करें। क्योंकि इनसे फायदा कम और नुकसान ज्यादा हो रहा है।