17 February 2019



प्रमुख समाचार
गुजरात ले गए महंत किशोर गिरी का शव
23-02-2013
साबरमती एक्सप्रेस में मृत मिले साधु महंत किशोरगिरी श्री पंच जूनागढ़ अखाड़ा के सदस्य थे। वे इलाहबाद कुंभ गए थे। वहां से लौटते समय ट्रेन में उनकी मृत हो गई। गुरुवार को उनके गुरु व साथी रतलाम पहुंचे और शव गिरनार [गुजरात] ले गए। वाराणसी से अहमदाबाद जाने वाली साबरमती एक्सप्रेस में बुधवार रात महंत किशोर गिरी [52] मृत मिले थे। रतलाम स्टेशन पर ट्रेन पहुंचने पर अन्य यात्रियों ने स्टेशन प्रबंधक को जानकारी दी थी। इसके बाद जीआरपी ने शव जिला अस्पताल भिजवाया था। उनके बैग में मोबाइल फोन, करीब 40 हजार रुपए, प्रसाद, कपडे़ आदि सामान था। मोबाइल फोन के माध्यम से जीआरपी ने उनके साथियों को जानकारी दी। गिरनार भावनाथ तलहटी, जूनागढ़ [गुजरात] से उनके गुर जयंती गिरी, साथी कौशलानंद गिरी व विजयगिरी गुरवार सुबह रतलाम पहुंचे। कौशलानंदजी ने बताया कि महंत किशोर गिरी एक माह से कुंभ मेले में थे। वहां ओलावृष्टि होने से उन्हें सर्दी हो गई थी। वे वाराणसी से गिरनार भावनाथ तलहटी जूनागढ़ लौट रहे थे। पुलिस ने उनके पास से मिले रपए व सभी सामान हमें लौटा दिया है। महंत किशोर गिरी का अंतिम संस्कार गिरनार में किया जाएगा।