18 February 2019



प्रादेशिक
दुष्कर्म व हत्या के दोषी को 15 दिन में फांसी
05-03-2013
दिल्ली में चलती बस में सामूहिक दुष्कर्म की घटना के विरोध में देश भर में उमड़े जनाक्रोश के बाद महिलाओं के विरुद्ध हिंसा के मामलों को निपटाने के लिए अदालती कार्यवाहियों में उल्लेखनीय तेजी देखी जा रही है। सोमवार को भी मध्य प्रदेश के खंडवा जिले के ग्राम सुरगांवजोशी में नौ वर्षीय बालिका के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या के आरोपी को दोषी ठहराते हुए सत्र अदालत ने एक युवक को फांसी की सजा सुनाई। न्यायाधीश जगदीश बाहेती की अदालत ने इस प्रकरण को दुर्लभतम के श्रेणी में रखते हुए 15 दिन की रिकॉर्ड अवधि में फैसला सुना दिया। पुलिस ने 18 फरवरी को न्यायालय में अभियोग पत्र दाखिल किया था। सुरगांवजोशी में आरोपी ने अपने मित्र की बच्ची को 30 जनवरी की शाम घर से अगवा कर उसके साथ दुष्कर्म किया और उसकी हत्या कर दी। एक फरवरी को बालिका का शव बरामद हुआ। पुलिस ने चार फरवरी को आरोपी को गिरफ्तार कर पांच फरवरी को न्यायालय में पेश किया। 19 फरवरी को प्रकरण विशेष न्यायाधीश जगदीश बाहेती की अदालत में पहुंचा। अदालत ने 21 से 27 फरवरी तक छह कार्यदिवसों तक लगातार सुनवाई की और चार मार्च को अदालत ने फैसला सुना दिया।