24 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
अलकायदा ने 48 सीरियाई सैनिकों की हत्या की जिम्मेदारी
12-03-2013
अलकायदा से जुड़े आतंकी समूह ने पश्चिमी इराक में सैन्य काफिले पर हुए हमले की जिम्मेदारी ली है। इस हमले में 48 सीरियाई सैनिक और नौ इराकी सुरक्षाकर्मी मारे गए थे। इराकी रक्षा मंत्रालय के अनुसार सीरियाई सैनिक चिकित्सीय उपचार के लिए इराक आए थे। वे पश्चिमी प्रांत अन्बर होते हुए वापस सीरिया जा रहे थे जब गत चार मार्च को उनपर हमला किया गया। आतंकी संगठन द्वारा जारी बयान में कहा गया है, इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक के लड़ाके सफाविद सेना के सदस्यों को मारने में सफल रहे। इनमें नौसारी सेना और सीरियाई शासन साबिहा के सदस्य भी शामिल थे। सफाविद शब्द का इस्तेमाल ईरानी नियंत्रण में शियाओं के लिए किया जाता है। जबकि नौसारी अलवेत समुदाय के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला अपमानजनक शब्द है। सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद इसी समुदाय से संबंध रखते हैं। वहीं साबिहा शब्द का इस्तेमाल शासक समर्थक सैन्य बलों के लिए किया जाता है। इराक यह कहते हुए अब तक असद को हटाने की मांग से लगातार बचता आया है कि वह किसी भी पक्ष की ओर से सशस्त्र कार्रवाई का विरोध करता है। जबकि विद्रोही असद शासन को उखाड़ फेंकना चाहते हैं। मगर अपने क्षेत्र में हुए जानलेवा हमले से इराक के सीरिया में चल रहे संघर्ष में फंसने का खतरा है। संयुक्त राष्ट्र का अनुमान है कि सीरिया में पिछले करीब दो साल से जारी संघर्ष में 70 हजार से अधिक लोग मारे जा चुके हैं।