16 February 2019



राष्ट्रीय
थानेदार साहब ने जमकर पी शराब और बन गए 'चुलबुल पांडेय'
13-03-2013
रील लाइफ को रीयल लाइफ में जीने की सनक कभी-कभी इंसान को महंगी पड़ जाती है। कुछ ऐसा ही हुआ कांधला थानाप्रभारी आरएन सिंह यादव के साथ। दो दिन पहले जन्मदिन के मौके पर थानेदार साहब पर ऐसा सुरूर चढ़ा कि बन गए \'चुलबुल पांडेय\'। फिर ऐसा गदर मचा कि पूछिए मत। थाने में ही जम गई महफिल। जमकर शराब का दौर चला और जैसे ही नशा छाया \'पांडेय जी\' और उनके साथियों ने दबंग के गाने पर ठुमके लगाने शुरू कर दिए। \'पांडेय जी\' तो सिविल में थे लेकिन उनके साथी फुल वर्दी में। सब हथियार हवा में लहराते हुए गिर-पड़ रहे थे। पूरा थाना अस्त-व्यस्त हो गया था। एक के बाद एक दबंग के गाने \'बजाए पांडेय जी सीटी\', \'दगाबाज रे\' पर तब तक डांस चला जब तक थानेदार साहब और उनके साथी जमीन पर नहीं गिर गए। गौरतलब है कि रविवार को पूर्वी यमुना नहर कॉलोनी निवासी एक पीड़ित अपने परिजन के अपहरण की आशंका की रिपोर्ट लिखाने थाने पहुंचा। काफी इंतजार के बाद भी उसकी रिपोर्ट नहीं लिखी गई। उस समय थाने में संतरी के अलावा कोई मौजूद नहीं था। पूछने पर पता चला कि सभी पुलिसकर्मी थाना प्रभारी की बर्थडे पार्टी में व्यस्त हैं। थाना परिसर में ही टेंट-शामियाने लगा था और सभी पुलिसकर्मी डेक लगाकर फिल्मी गाने पर डांस कर रहे थे। महाशिवरात्रि के मौके पर अलर्ट के बावजूद पुलिसकर्मी पार्टी मना रहे थे। इसकी सूचना जब एसपी अब्दुल हमीद तक पहुंची तब उन्होंने अगले ही दिन थाना प्रभारी को लाइन हाजिर कर दिया। अब थानेदार साहब अपनी सफाई देते फिर रहे हैं।