22 February 2019



राष्ट्रीय
भारत को सबक सिखाने के लिए पहले हैदराबाद अब दहला श्रीनगर!
13-03-2013
जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में सीआरपीएफ कैंप में हमला हुआ है। इसमें 5 जवान शहीद हो गए हैं और सात घायल हैं। इसके जवाब में दो हमलावरों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है। हांलाकि इस हमले की जिम्मेदारी किसी ने नहीं ली है लेकिन इस हमले से कई तरह की आशंकाएं जन्म ले रही हैं। सीआरपीएफ को शक है कि यह हमला पाकिस्तानी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा ने कराया है। संसद हमले में दोषी अफजल गुरू की फांसी के बाद से ही सूबे में एक तरफ राजनीतिक सरगर्मी बढ़ रही थी तो दूसरी तरफ दहशतगर्दो के मंसूबे खतरनाक हो रहे थे। अफजल की मौत पर विधानसभा से लेकर सड़क तक हंगामे हो रहे हैं। आपको याद हो तो भारत की संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरु को फांसी पर लटकाए जाने के बाद पाकिस्तानी आतंकियों ने धमकी दी थी कि वे इसका बदला लेंगे। इसमें लश्कर और जैश-ए मोहम्मद जैसे आतंकी संगठन भी शामिल थे। इन संगठनों ने जम्मू-कश्मीर में जिहादी गतिविधियों को बढ़ाने की भी घोषणा की थी। नेशनल प्रेस क्लब में यूनाइटेड जिहाद काउंसिल द्वारा अफजल को श्रद्धांजलि देने के लिए आयोजित समारोह में यह एलान किया गया कि हर हाल में बदला लिया जाएगा। इस दौरान लश्कर, जैश, अल बद्र, जमायत-उल मुजाहिदीन, हरकत-उल मुजाहिदीन, यूनाइटेड जिहाद काउंसिल के आतंकियों ने भारत विरोधी नारे लगाए थे। पिछले चार सालों में यह पहला मौका था कि जब प्रतिबंधित संगठनों ने पाकिस्तान की राजधानी में इस तरह कोई सार्वजनिक बैठक सभा की। जमायत नेता मुफ्ती असगर ने कहा था कि हम भारत से बदला जरूर लेंगे।