17 February 2019



प्रादेशिक
शहादत पर गर्व, बिछड़ने का गम, अंतिम संस्कार आज
15-03-2013
देश की आन, बान और शान पर जान न्योछावर करने वाले सीहोर जिले के ला़़डले सपूत ओमप्रकाश की शहादत पर लोगों को गर्व है, लेकिन उसके बिछ़़डने का गम भी वे बर्दास्त नहीं कर पा रहे हैं। शाहपुरा में गुरवार को शोक छाया रहा। गांव के किसी घर में चूल्हा तक नहीं जला। शहीद की पार्थिव देह शुक्रवार सुबह तक गांव पहुंचेगी। इसके बाद पूरे सम्मान सहित अंतिम संस्कार किया जाएगा। अंतिम संस्कार में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष सुषषमा स्वराज, प्रभारी मंत्री कुंवर विजय शाह, राजस्व मंत्री करण सिंह वर्मा सहित प्रदेश के अन्य मंत्री, सीआरपीएफ और प्रशासनिक अधिकारी शहीद को श्रद्घांजलि अर्पित करेंगे। अंतिम संस्कार के लिए प्रशासन द्वारा की जा रही तैयारियों का जायजा गुरवार दोपहर कलेक्टर कवींद्र कियावत और एसपी केबी शर्मा ने लिया। तड़पती रही शहीद की पत्नी आतंकवादी हमले में पति के शहीद होने की सूचना पाकर अचानक बीमार हुई शहीद की पत्नी कोमल को बुधवार रात जिला अस्पताल में समुचित उपचार नहीं मिला। वह काफी देर तड़पती रही, लेकिन किसी ने उसकी सुध नहीं ली। उक्त जानकारी जब कलेक्टर कवींद्र कियावत को लगी तो वे तत्काल अस्पताल पहुंचे। उन्होंने इसके लिए जिम्मेदार स्वास्थ्य कर्मचारियों को निलंबित कर दिया। कलेक्टर ने नर्स विमला राठौर, रीना वर्मा के अलावा दाई धन्ना बाई और चंदा बाई को निलंबित कर दिया। गार्ड आरिफ बेग को तुरंत प्रभाव से हटा दिया। जबकि डॉ. उमेश श्रीवास्तव को कारण बताओ नोटिस थमाया है।