19 February 2019



राष्ट्रीय
संजय के लिए ममता ने की माफी की वकालत, शिवसेना ने किया विरोध
25-03-2013
संजय दत्त को बॉलीवुड के साथ साथ राजनीतिक क्षेत्र से भी पूरा समर्थन मिल रहा है। संजय दत्त के समर्थन में आगे आने वालों में भाजपा को छोड़ लगभग सभी महत्वपूर्ण पार्टियां शामिल हैं। अब इसमें एक और बड़ा नाम जुड़ गया है, यह नाम है तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का। उधर, शिवसेना ने संजय दत्त की माफी का खुलकर विरोध किया है। ंिशवसेना का मानना है कि इससे गलत संदेश जाएगा। ममता बनर्जी ने सुनील दत्त को याद करते हुए कहा कि, जब भी वह कोलकाता आते मुझसे मिलने मेरे घर आते थे। ममता ने कहा कि अगर आज सुनील दत्त जिंदा होते तो इसमें कोई शक नहीं है कि ऐसी कोशिशें करते कि उनके बेटे संजय दत्त को अब आगे कुछ और न भुगतना पड़े। ममता ने कहा कि मेरी भी सोच कुछ ऐसी ही है। हम सभी को संजय के शांतिपूर्ण जीवन के लिए प्रार्थना करनी चाहिए ममता ने कहा कि मैं सुनील दत्त को अपने संसद में होने के समय से जानती थी। उस दौरान हमने साथ मिलकर टाडा कानून की मुखालफत करते हुए इसके खिलाफ लड़ाई लड़ी थी। अंततोगत्वा सरकार को इस कानून को वापस लेना ही पड़ा। ममता ने कहा कि फिल्मी दुनिया और सिविल सोसायटी के काफी लोगों ने उनसे मिल कर कहा कि आप देखिए, संजय दत्त को इस मामले में और न कुछ भुगतना पड़े। हालांकि यह हमारे हाथ की बात नहीं थी, लेकिन मेरा मानना है कि संजय ने जो बलंडर किया उसके लिए वह पर्याप्त सजा भुगत चुके हैं। उधर, महाराष्ट्र विधान परिषद में शिवसेना की नीलम गोरे ने कहा कि संजय की सजा माफ करने से गलत संदेश जाएगा, वह अपनी सजा पूरी करें। कई राजनीतिक पार्टियों ने संजय दत्त की सजा माफ करने की वकालत की है, लेकिन शिवसेना का रुख यहां काफी मायने रखता है।