17 February 2019



प्रमुख समाचार
शशि की कैफियत..
19-03-2012
तकनीकी शिक्षा विभाग की उप सचिव शशि कर्णावत इस समय बैकफुट पर हैं उन पर मंडला सीईओ रहते हुए शासकीय खरीदी में भ्रष्टाचार का मामला ईओडहब्ल्यू में दर्ज है। इसी कारण उन्हें मलाई दार पोस्टिंग नहीं दी गई लेकिन इससे खफा होकर उन्होंने जातिगत आधार बनाकर कई विधायकों से गुहार की इस मामले को विधायक राकेश चौधरी ने विधानसभा में भी उठाया। इससे राज्यसरकार की जमकर किरकिरी हुई। एक अफसर द्वारा राजनीति किए जाने से खफा होकर सरकार ने इस पर शशि से जवाब मांगा। इस जवाब को देने में शशि ने पूरी तरह से नरमी बरती है और कहा है कि उन्होंने सहज भाव में अपना प्रमोशन न होने की बात कही थी किसी से दुराग्रह पूर्वक यह बात नहीं की। गौरतलब है कि सरकारी कर्मचारियों तथा अधिकारियों का चैनल से बाहर जाकर बयानबाजी करना सिविल सेवा आचरण के उल्लंघन में आता है। शशि को शायद इसी बात का डर सता रहा था जिसके चलते उन्होंने सारे मामले को गोलमोल  कर दिया जबकि सब जानते हैं कि शशि के तेवर पिछले महीने कितने उग्र थे और उन्होंने कई विधायकों को अपने साथ हो रहे अन्याय के बारे में बताया था।