16 February 2019



राष्ट्रीय
दिल्ली फिर शर्मसार, दरिंदों ने बार डांसर को बनाया शिकार
01-04-2013
दिल्ली में आपराधिक घटनाएं कम होने का नाम ही नहीं ले रही है। अब सरिता विहार थाना क्षेत्र में एक बार डांसर को इंडिगो कार से अगवा कर तीन युवकों द्वारा गैंगरेप का मामला प्रकाश में आया है। पीड़ित महिला व उसकी बड़ी बहन गुड़गांव स्थित सहारा मॉल के एक बार में डांसर है। कैब चालक उन्हें लिफ्ट देने के बहाने सरिता विहार ले आया था। जहां बड़ी बहन को सड़क किनारे उतार चालक छोटी बहन को शाहीनबाग स्थित एक फ्लैट पर लेकर चला गया। वहां तीनों ने रेप कर महिला को रविवार तड़के मुनीरिका स्थित घर के पास छोड़ दिया महिला की शिकायत पर सरिता विहार थाना पुलिस ने तीनों के खिलाफ अपहरण व दुष्कर्म का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने शाहीनबाग स्थित फ्लैट की पहचान कर ली है। आरोपियों की तलाश की जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार, पीड़ित महिला की उम्र 38 साल है। वह मूलरूप से उड़ीसा की रहने वाली है और मुनीरिका गांव में अपनी 50 वर्षीय बड़ी बहन के साथ किराए पर रहती है। शनिवार रात एक बजे जब दोनों बहनें बार से घर जाने के लिए निकली तो एक कैब चालक उनके पास आकर रुका। चालक ने कहा कि वह लाजपत नगर जा रहा है और उन्हें छोड़ देगा। चालक द्वारा पैसे न लेने और लिफ्ट देने की बात कहने पर दोनों कार में बैठ गई। चालक दोनों को लेकर सरिता विहार की तरफ आ गया और मथुरा रोड, ओखला टैंक के पास बड़ी बहन को जबरन उतारकर छोटी बहन को लेकर शाहीनबाग आ गया। वहां एक फ्लैट में ले जाकर चालक समेत तीन युवकों ने महिला के साथ रेप किया और फिर उसे मुनीरिका ले जाकर छोड़ दिया। उधर, छोटी बहन को अगवा किए जाने पर बड़ी बहन ने किसी राहगीर के मोबाइल से रविवार तड़के 3:50 बजे पुलिस को कॉल किया। पुलिस ने जब पीड़ित महिला के मोबाइल पर संपर्क किया तो वह तब तक घर पहुंच चुकी थी। पीड़िता का एम्स में मेडिकल चेकअप कराया गया, जिसमें रेप की पुष्टि हुई। पुलिस ने मामला दर्ज कर पीड़िता के साथ शाहीनबाग में फ्लैट को ढूंढा गया। फ्लैट बंद होने पर पुलिस ताला तोड़ अंदर दाखिल हुई। पुलिस को मौके से कई सुबूत भी मिले। पुलिस को दिए बयान में दोनों ने नई उजले रंग की लंबी कार बताई है, जिससे माना जा रहा है कि कैब इंडिगो ही हो सकती है। आरोपियों की तलाश में छापेमारी जारी है। ज्ञात रहे गुड़गांव के सहारा मॉल से बाहर निकलने पर महिलाओं व युवतियों को अगवा कर रेप किए जाने की अब तक कई घटनाएं हो चुकी हैं, लेकिन न तो गुड़गांव और न ही दिल्ली पुलिस इस पर अंकुश लगा पा रही है।