19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
ब्राजील में हुई दिल्ली गैंगरेप जैसी वीभत्स घटना
03-04-2013
दिल्ली में चलती बस में सामूहिक दुष्कर्म के कुकृत्य के बाद अब ब्राजील की राजधानी रियो डी जिनेरियो भी एक ऐसे ही वाक्ये से शर्मसार हो गई है। अपने पुरुष मित्र के साथ ब्राजील घूमने आई एक 21 वर्षीय अमेरिकी युवती से मिनीबस में गैंगरेप किया गया और विरोध करने पर दोनों से मारपीट भी की गई। गैंगरेप के बाद आरोपी दोनों को सड़क के किनारे फेंक कर फरार हो गए। पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। इस कुकृत्य के सामने आने के बाद 2014 में फीफा व‌र्ल्ड कप और 2016 में ओलंपिक खेलों की मेजबानी कर रहे देश की प्रतिष्ठा को तगड़ा झटका लगा है। इस बीच, अमेरिका ने अपने नागरिक के साथ हुई इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा की है। पुलिस ने 20 वर्षीय बस चालक जोनाथन फाउडकिस डी सूजा और 22 वर्षीय वालेस एप्रेडिको डी सूजा सिल्वा समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार यह हादसा बीते वीकएंड पर समुद्र तटीय जिले कोपाकबाना में हुआ। सैर पर आया ये विदेशी जोड़ा शहर के कोपाकबाना इलाके में मिनीबस में सवार हुआ था। पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने सफर कर रहे अन्य यात्रियों को बस से उतार दिया और बस को रियो डि जिनेरियो के बाहरी इलाके में ले गए। मिनीबस ने रियो की गुनाबरा खाड़ी पर बने लंबे पुल को पार किया। इस दौरान आरोपियों ने युवती के साथ गैंगरेप किया। विरोध करने पर युवती के चेहरे पर वार किए गए। आरोपियों ने इस दौरान युवती के पुरुष मित्र को बुरी तरह से पीटते हुए उसके हाथ बांध दिए। आरोपियों ने उसे लोहे की रॉड से पीटा। चलती मिनीबस में हैवानियत का यह नंगा नाच लगभग 6 घंटे तक चलता रहा। पुलिस के अनुसार आरोपियों ने दोनों के क्रेडिट कार्ड से खरीददारी की और उन्हें एटीएम से पैसे निकालने के लिए मजबूर किया। गैंगरेप के बाद आरोपियों ने दोनों को इटाबोराई के पास फेंक दिया। इस कुकृत्य के कुछ घंटे बाद ही पुलिस ने तीनों अपराधियों को पकड़ लिया। वैसे तो रियो डी जिनेरियो और देश के अन्य बड़े शहरों में बसों में लूटपाट की घटनाएं आम हैं, लेकिन इस कुकृत्य के बाद पूरा देश सकते में हैं। हादसे के युवती को अस्पताल में भर्ती कराया गया। उसके चेहरे पर सूजन थी और फ्रेंच युवक की आंखों के नीचे चोट के निशान थे। हादसे की शिकार युवती ने इलाज के बाद ब्राजील को छोड़ दिया, जबकि युवक पुलिस जांच में मदद के लिए वहीं रुका हुआ है। युवक इस मामले का चश्मदीद गवाह है। इस मामले के सामने आने के बाद गैंगरेप की शिकार एक 21 साल की छात्रा भी सामने आई है। जिसका आरोप है इन्हीं आरोपियों ने उसे इसी मिनीबस में एक घंटे तक बंधक बनाकर उसके साथ गैंगरेप किया था।