19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
बोस्टन ब्लास्ट के बाद ओबामा के नाम 'जहरीला' पैगाम
18-04-2013

वाशिंगटन। बोस्टन मैराथन में दोहरे बम विस्फोट के दो दिन बाद ही बुधवार को राष्ट्रपति बराक ओबामा को एक जहरीला खत भेजा गया है। ओबामा को संबोधित यह खत सीधे व्हाइट हाउस की मेल स्क्रीनिंग सेवा को भेजा गया। इससे पहले ऐसा ही एक खत रिपब्लिकन सीनेटर रोजर विकर भी भेजा गया था। इस मामले में एफबीआई ने जांच के बाद एक की गिरफ्तारी भी कर ली है। एफबीआई ने इस बात की पुष्टि की है कि उस खत में जहरीला पदार्थ राइसिन लगा हुआ था। न्याय विभाग केअधिकारियों ने बताया कि शाम सवा पांच बजे एफबीआई के विशेष एजेंटों ने पॉल केविन कुर्टिस को गिरफ्तार किया है। माना जा रहा है कि इसी व्यक्ति ने अमेरिकी डाक विभाग के जरिए उन तीन चिट्ठियों को भेजा था। मेल स्क्रीनिंग सेवा के प्रवक्ता एडविन डोनोवन ने कहा कि स्क्रीनिंग सेवा केंद्र व्हाइट हाउस के नजदीक नहीं है। इसमें आने वाली हर चिट्ठी को व्हाइट हाउस भेजने से पहले उसकी जांच की जाती है। एडविन ने बताया कि खुफिया सेवा एफबीआई और कैपिटल पुलिस साथ मिलकर इसकी जांच पड़ताल में जुटी है। गौरतलब है कि ऐसा ही एक खत मिसीसिपी के सीनेटर को मिलने के बाद तमाम सीनेटरों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सीनेटर हैरी रीड ने बताया कि पत्र पर मिसीसिपी के सीनेटर रोजर वाइकर का नाम लिखा था। पत्र की जांच में राइसिन मिलने के नतीजे पॉजीटिव आए हैं एफबीआई के एक अधिकारी ने बताया कि पत्र पर लगे पदार्थ की प्रयोगशाला में फिर से जांच की जा रही है। राइसिन अरंडी के बीज में प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला जहर है। एफबीआइ ने कहा है कि दोनों चिट्ठियों का बोस्टन धमाकों से कोई लेना-देना नहीं है। हालांकि, एफबीआई ने संदेह जताया है कि सीनेटरों को ऐसे और खत भेजे जा सकते हैं।