15 February 2019



राष्ट्रीय
रहते हैं झुग्गी में, मगर कार है और कंप्यूटर भी
28-04-2013
पंजाब की झुग्गी-बस्तियां कई गांवों-कस्बों को मात दे रही हैं। जनगणना निदेशालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक सूबे की झुग्गी-बस्तियों में 7.3 प्रतिशत लोगों के पास चार पहिया वाहन हैं। लुधियाना की झुग्गियों में रहते हर दसवें आदमी के पास चार पहिया वाहन है। कुछ ऐसा ही रिकार्ड कंप्यूटर-लैपटॉप के मामले में है जहां 4.3 फीसदी झुग्गियों में रहते लोगों के पास इंटरनेट कनेक्शन के साथ कंप्यूटर अथवा लैपटॉप है। बिना इंटरनेट के सात प्रतिशत झुग्गियों में कंप्यूटर अथवा लैपटॉप हैं। टेलीविजन व टेलीफोन के मामले में तो आंकड़े बेहद चौंकाने वाले हैं। झुग्गी-बस्ती के 82 प्रतिशत से अधिक घरों में टीवी है। इस मामले में जालंधर शहर की झुग्गियां 85.3 प्रतिशत के साथ सबसे आगे हैं। पंजाब की झुग्गियों में बसे 75.6 प्रतिशत लोगों के पास टेलीफोन है। इनमें मोबाइल व दूसरे फोन शामिल हैं। प्रदेश की 35 फीसद झुग्गियों में रहते लोगों के पास स्कूटर, मोटरसाइकिल या मोपेड है। खास बात यह है कि अब झुग्गियों में भी मुख्य ईधन के तौर पर एलपीजी का ही प्रयोग हो रहा है। 67 प्रतिशत से अधिक झुग्गियों में एलपीजी का प्रयोग होता है। इस मामले में लुधियाना शहर सबसे आगे है, जहां की 76 प्रतिशत से अधिक झुग्गियों में रसोई गैस का प्रयोग किया जा रहा है पंजाब में पहली बार जनसंख्या निदेशालय ने झुग्गी-बस्तियों का ऐसा डाटा एकत्र किया है। इसके अनुसार राज्य की 14.2 प्रतिशत शहरी आबादी झुग्गियों में रहती है। इन झुग्गियों में 96 प्रतिशत से अधिक के पास बिजली व 69 फीसद से अधिक के पास पानी की सुविधा है। झुग्गी-बस्तियों में जहां दुकानें, छोटी फैक्ट्रियां, वर्कशाप, होटल-लॉज आदि हैं वहीं पूजा स्थल व स्कूल आदि तक बनाए जा चुके हैं।