18 February 2019



प्रादेशिक
85 बरस की वृद्धा पर आगजनी का केस!
30-04-2013

झाबुआ/आलीराजपुर [निप्र]। पथराई आंखें, कांपते हाथ-पैर और उम्र के पड़ाव पर बगैर सहारा एक कदम न रख पाने वाली 85 वर्षीय नूरजहां बी के लिए सोमवार का दिन किसी आजादी के जलसे से कम नहीं था। आखिर उन्हें कोर्ट से आगजनी के केस में जमानत जो मिल गई है। वे बेटों के कांधों पर सवार होकर घर की ओर निकल पड़ीं, लेकिन मन में टीस थी आखिर यह दिन क्यों देखना पड़ा?

आलीराजपुर जिले के ग्राम भाबरा में बीते माह एक विवाद के बाद सदर बाजार स्थित मकान के रहवासियों ने वर्ग-विशेष के परिवार के खिलाफ आगजनी और बलवा करने संबंधी शिकायत की थी। इस संबंध में अजजा एक्ट के तहत भी प्रकरण दर्ज कराया गया। पुलिस को फरियादी पक्ष ने छह लोगों की नामजद शिकायत दर्ज कराई थी। इस पर जांच के बाद डीएसपी अजाक थाना आलीराजपुर के निर्देश पर 85 वर्षीय नूरजहां बी पति जान मोहम्मद को गिरफ्तार कर लिया गया। शेषष पांच आरोपियों के फरार हो जाने से उनकी गिरफ्तारी नहीं हो पाई।

आलीराजपुर से झाबुआ शिफ्ट

मामले में एकमात्र गिरफ्तार नूरजहां बी को कोर्ट में पेश करने के बाद पुलिस ने झाबुआ जिला जेल भेज दिया। आलीराजपुर जेल में महिला सेल नहीं होने के कारण यह स्थिति बनी। 26 अप्रैल को गिरफ्तार नूरजहां बी को सोमवार कोर्ट से राहत मिल गई और जमानत दे दी गई। महिला को बेटों ने सहारा दिया और जेल से छूटने के बाद घर ले गए।

नहीं पता यहां क्यों ले आए

उम्र के आखिरी पड़ाव पर जेल की बैरक में तीन दिन बिताने वाली नूरजहां बी को तो यह भी पता नहीं कि उन्हें यहां क्यों लाया गया है। जब इस बारे में उनसे पूछा गया तो कुछ मिनटों के बाद खुले होंठ सिर्फ यह कह पाए कि क्या पता। कांपते हाथ को बमुश्किल उठाकर वे इशारों में कह गई कि आखिर यह दिन क्यों आया। वहीं ब़़डे बेटे रफीक मोहम्मद ने बताया कि हमारे परिवार को जबरन फंसाया गया है। कुछ माह पहले परिवार की लड़की को सदर बाजार का एक लड़का बहला-फुसलाकर ले गया था। मामले में हम लड़की को तलाश रहे थे, लेकिन संबंधित पक्ष ने आगजनी और बलवा की शिकायत दर्ज करा दी। इसमें नूरजहां को भी शामिल बता दिया गया जबकि वे न तो ठीक से चल पाती हैं और न ही उन्हें ठीक से दिखता है।

डीएसपी को देंगे नोटिस

अखिलेश झा, पुलिस अधीक्षक, आलीराजपुर ने कहा कि मामले में अजाक डीएसपी स्तर से जांच की जा रही है। नामजद आरोपियों की शिकायत के बाद भी पहले वृद्धा को ही गिरफ्तार क्यों किया गया, इस बारे में जवाब लिया जाएगा।

महिला ने ही कहा था

शंकरसिंह खराड़ी, डीएसपी, अजाक थाना, आलीराजपुर ने बताया कि महिला ने सार्वजनिक तौर पर कहा था कि उसने आग लगाई है। इसी आधार पर गिरफ्तारी की गई थी। उसके खिलाफ नामजद शिकायत थी।