19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
कैंसर से पीड़ित थे पाब्लो नेरूदा
04-05-2013
नोबेल विजेता साहित्यकार पाब्लो नेरूदा के कब्र से निकाले गए अवशेषों की प्रारंभिक जांच से पता चला है कि वह प्रोस्टेट कैंसर से पीड़ित थे। जांच दल ने अपनी रिपोर्ट जज मारियो करोजा को सौंप दी है, जो नेरूदा की मौत के रहस्य को सुलझाने वाले मामले की सुनवाई कर रहे हैं। नेरूदा की मौत जनरल अगस्टो पिनोशे के नेतृत्व में एक खूनी संघर्ष में चिली की समाजवादी सरकार के तख्तापलट के 12 दिन बाद 23 सितंबर, 1973 को हुई थी। आधिकारिक रूप से कहा गया था कि उनकी मौत कैंसर के कारण हुई थी। लेकिन, नेरूदा के सहयोगियों द्वारा 2011 में शिकायत दर्ज कराई गई कि पिनोशे के आदेश पर नेरूदा की हत्या की गई थी। जिसके बाद से इस मामले की जांच की जा रही है। आशंका जताई गई थी कि नेरूदा जब प्रोस्टेट कैंसर के इलाज के लिए सांता मारिया क्लीनिक में भर्ती थे, उन्हें जहर दे दिया गया था सांता मारिया क्लीनिक में ही इक्वाडोर के पूर्व राष्ट्रपति एडुआर्डो फ्रेई मोंटेलवा की 1982 में मौत हो गई थी। पहले राष्ट्रपति की मौत को स्वाभाविक बताया गया था, लेकिन 2009 में एक जांच में खुलासा हुआ कि उनकी मौत जहर देकर की गई थी।