19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
ठहरने की वैधता प्राप्त करें या सऊदी छोड़ दें भारतीय
08-05-2013
सऊदी अरब में भारतीय दूतावास की ओर से कहा गया है कि इस देश में रहने वाले भारतीय कामगार या तो ठहरने की वैधता प्राप्त करें या भारत लौट जाएं। सऊदी अरब की नई श्रम नीति को देखते हुए दूतावास की ओर से ऐसा कहा गया है। सोमवार को दूतावास की ओर से जारी बयान में भारतीयों से अपील की है कि वे निताकत नीति से प्रभावित होने वाले कामगारों की मदद के लिए चलाए जाने वाले अभियान में हिस्सा लें। इस नीति के तहत सऊदी अरब की सभी कंपनियों के लिए आवश्यक हो गया है कि वे देश के नागरिकों के लिए कम से कम 10 प्रतिशत नौकरियां आरक्षित रखें। बयान के मुताबिक सोमवार को सऊदी के श्रम मंत्रालय ने भर्ती करने वाली नई बड़ी कंपनियों की ओर से कार्यक्रम का आयोजन किया। इसमें सऊदी अरब में भारत के राजदूत हामिद अली राव और दूतावास के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया। सऊदी अरब में भारतीय कामगारों की समस्या को दूर करने के लिए दूतावास और मंत्रालय की ओर से एक संयुक्त समूह का गठन किया गया है। कार्यक्रम इसी समूह केयासों का हिस्सा था। सऊदी अरब में करीब 20 लाख प्रवासी भारतीय हैं।