17 February 2019



प्रमुख समाचार
आईआईएम की महिला प्रोफेसर ने दायर की याचिका
08-05-2013
आईआईएम से निकाली गई महिला प्रोफेसर ने कोर्ट की शरण ले ली है। प्रोफेसर की ओर से मंगलवार को हाई कोर्ट में याचिका दायर की दी गई। महिला प्रोफेसर ने आईआईएम निदेशक, चेयरमैन समेत जेंडर सेंसेटिविटी कमेटी पर भी गड़बड़ी के आरोप लगाए हैं। मार्केटिंग विषय की प्रोफेसर को दस दिन पहले ही आईआईएम ने बर्खास्त कर दिया था। प्रोबेशन पीरियड पर रहने का हवाला देते हुए महिला प्रोफेसर को बर्खास्तगी की पूर्व सूचना भी नहीं दी गई थी। इससे पहले इन्हीं महिला प्रोफेसर ने संस्थान में अपने सीनियर के खिलाफ यौन दु‌र्व्यवहार की शिकायत की थी याचिका में आरोप लगाया गया है कि आईआईएम निदेशक ने उनकी शिकायत पर जांच और उचित कार्रवाई नहीं की। साथ ही आरोपी प्रोफेसर को बचाने के लिए जांच को भटकाया गया। अपनी बर्खास्तगी को भी महिला प्रोफेसर ने चुनौती दी है। महिला प्रोफेसर ने याचिका में कहा है कि शिकायत के बाद निदेशक ने जांच करने की बजाय उन्हें ही प्रताड़ित किया और नौकरी छोड़ने पर मजबूर किया गया। इसकी शिकायत बोर्ड को भी की। बाद में मामला जेंडर सेंसेटिविटी कमेटी को भी सौंपा गया, लेकिन कमेटी को भी नियम विरुद्ध बनाकर जांच प्रभावित की गई। प्रोफेसर ने जेंडर सेंसेटिविटी कमेटी की जांच पर भी सवाल खडे़ किए हैं। उल्लेखनीय है कि इससे पहले ही आईआईएम के चार अन्य प्रोफेसर भी कोर्ट की शरण ले चुके हैं।