19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
भारतीय छात्रा की रेप के बाद हत्या करने वाले को 45 साल की सजा
17-05-2013

मेलबर्न। आस्ट्रेलिया में 24 साल की एक भारतीय छात्रा तोशा ठक्कर की पूर्व नियोजित तरीके से रेप के बाद हत्या करने के मामले में कोर्ट ने एक युवक को 45 साल की सजा सुनाई है। न्यू साउथ वेल्स सुप्रीम कोर्ट के जज डेरेक पाइस ने डेनियल स्टैनी रेगिनाल्ड को 45 साल की सजा सुनाई है, जिसमे तीस साल तक की सजा के दौरान उसे पैरोल पर भी नहीं छोड़ा जाएगा। सिडनी मार्निग हेराल्ड के मुताबिक, रेगिनाल्ड ने 21 मार्च, 2011 को 24 वर्षीय भारतीय छात्रा की हत्या कर दी थी। इसके बाद उसके शव को सूटकेस में रखकर नदी में फेंक दिया था। उस समय रेगिनाल्ड की उम्र 19 साल थी। समाचार पत्र के मुताबिक, रेगिनाल्ड और लड़की लेखा विधि के छात्र थे। दोनों सिडनी के क्रायडन में एडविन स्टरीट पर स्थित एक छात्रावास में आसपास के कमरों में रहते थे। घटना वाले दिन सुबह तोशा के कमरे में रहने वाली लड़की के जाने का बाद उससे रेप किया और इसके बाद उस पर हमला कर दिया गया था। लड़की का शव मेडोबैंक पार्क के निकट नहर से मिला था। न्यायमूर्ति प्राइस के मुताबिक, इस मामले में आरोपी ने कोई पछतावा, सहानुभूति व पश्चाताप की भावना नहीं दिखाई। उनके मुताबिक, आरोपी ने लड़की का गला दबाया जो कि एक बेहद क्रूर कृत्य है। लड़की के जीवन के आखिरी क्षण बहुत ही भयानक रहें होंगे। रेगिनाल्ड ने इस घटना को अंजाम देने से पहले रेपिस्टो और मर्डर करने वालों से संबंधित कई लेख पढ़ें होंगे और वेबसाइट देखी होंगी।