18 February 2019



प्रादेशिक
पुलिस पिटाई से महिला कांग्रेस नेत्री बेहोश
07-06-2013
कलेक्टोरेट के सामने गुरुवार को चक्काजाम कर रहीं महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष उर्मिला गुर्जर व पुलिस के बीच विवाद हो गया। इसके बाद पुलिस ने उन्हें सड़क पर पटक-पटककर पीटा। पुलिस की पिटाई से वे बेहोश होकर सड़क पर गिर गई। पुलिस ने उनके खिलाफ मामला दर्ज करके हवालात में बंद कर दिया। कांग्रेस नेताओं के दबाव के बाद महिला कांग्रेस अध्यक्ष को सीजेएम कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया।

जिला प्रशासन द्वारा चलाई जा रही अतिक्रमण विरोधी मुहिम के दौरान फुटपाथ से हटाए गए हाथ ठेला चालकों के साथ महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष उर्मिला गुर्जर गुरवार की दोपहर ढाई बजे कलेक्टोरेट पहुंचीं। यहां हाथ ठेला वालों ने स़़डक के दोनों ओर ठेले रखकर चक्काजाम कर दिया। आधा घंटे बाद मौके पर कलेक्टोरेट परिसर से एसडीएम पंकज शर्मा, एएसपी रघुवंश सिंह भदौरिया, एसडीओपी सबलगढ़ देवेन्द्र सिंह कुशवाह महिला आरक्षकों के साथ पहुंचे।

दस मिनट तक पड़ी रहीं

चक्काजाम करने पर हाथ ठेला चालकों का नेतृत्व कर रहीं सुश्री गुर्जर की एएसपी से बहस हो गई। मौके पर सादा कपड़ों में मौजूद महिला आरक्षकों ने उर्मिला गुर्जर को सड़क पर पटकर दिया और लात-घूसों से पिटाई कर दी। महिला आरक्षकों की पिटाई से वे बेहोश हो गई। दस मिनट तक सड़क पर पडे़ रहने के बाद पुलिस वाहन से उन्हें सिटी कोतवाली लाया गया। कोतवाली पुलिस ने महिला नेत्री के विरुद्ध प्रकरण दर्ज कर लिया है। बाद में उन्हें मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी प्रदीप सोनी की अदालत में पेश किया गया। यहां पर उन्हें जमानत मिल गई।

टीआई ने गालियां दीं

उर्मिला गुर्जर अध्यक्ष, महिला कांग्रेस ने कहा कि मैं गरीब हाथ ठेले वालों की समस्या लेकर कलेक्टोरेट पहुंची थी लेकिन कांग्रेसी होने के कारण वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने मेरी सड़क पर पटककर चप्पल, लात-घूसों से पिटाई की। यही नहीं कोतवाली लाते समय भी महिला आरक्षकों ने वाहन के अंदर बुरी तरह से पीटा। हवालात में खुद टीआई ने मुझे गालियां दी है।

अभद्रता की

रघुवंश सिंह भदौरिया, एएसपी, मुरैना ने बताया कि महिला कांग्रेस नेत्री उर्मिला गुर्जर द्वारा महिला आरक्षकों से अभद्रता की गई थी। हमने उनके विरद्ध सिटी कोतवाली में प्रकरण दर्ज कर लिया है।