24 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
17वीं सदी का भारतीय कालीन रिकार्ड तोड़ दाम पर नीलाम
07-06-2013

न्यूयार्क। भारतीय शहर हैदराबाद से लाए गये 17वीं सदी के एक फारसी कालीन ने नीलामी के नए रिकार्ड बनाए हैं। बेल-बूटियों और रंगबिरंगी फूलों की डिजाइन वाले इस लाल रंग के परंपरागत कालीन को मुगलकाल का बताया गया है। इसे 33.8 लाख अमेरिकी डॉलर (करीब 18252 लाख रुपये) में नीलाम किया गया है। अमेरिकी नीलामी घर ने इस रेशमी कालीन के लिए अनुमानित राशि 60 हजार अमेरिकी डालर रखी थी। लेकिन इसकी बोली ही 5,45,000 अमेरिकी डॉलर में खुली। माना जाता है कि इस प्राचीन कालीन को भारत के हैदराबाद शहर से लाया गया था जिसे बुधवार को टेलीफोन पर किसी गुमनाम व्यक्ति ने नीलामी घर की तय की कीमत से नौ गुनी ऊंची बोली लगाकर खरीद लिया फारसी कशीदेकारी वाली ये कालीन अमेरिकी सांसद और उद्योगपति विलियम क्लार्क की मौत के बाद उनकी निजी संपत्ति का हिस्सा थी। उनके देहांत के बाद उनकी दो सौ से अधिक निजी कलाकृतियों को नीलामीघर को दान कर दिया गया था। कोरकोरल गैलरी की इस अमानत को सोदेबी नीलामीघर को सन 1925 में सौंपा गया। वाशिंगटन पोस्ट के अनुसार आठ फीट लंबी और छह फीट चौड़ी इस कालीन फारस देश के साफाविद साम्राज्य का माना जाता है। सोदेबी के कालीनों की वरिष्ठ सलाहकार मेरी जो ओटेसी का कहना है कि उनके तीस साल के कैरियर में कभी कोई कालीन कभी भी इतना महंगा नहीं बिका। इससे पहले लंदन में किरमान वेस कालीन की बिक्री 2010 में साढ़े नौ लाख अमेरिकी डालर में हुई थी।