18 February 2019



खेलकूद
आइसीसी सख्त, अब लपेटे में आएगा आइपीएल भी
26-06-2013

लंदन। आइपीएल में भ्रष्टाचार और उसकी वजह से कई बार क्रिकेट की बिगड़ती छवि को लेकर अब आइसीसी भी सख्त हो गया है। आइसीसी की भ्रष्टाचार निरोधक और सुरक्षा इकाई अपने सदस्यों के लिए कड़े भ्रष्टाचार निरोधक कानूनों की सिफारिश कर सकती है। आइपीएल जैसी घरेलू टी20 लीग में भ्रष्टाचार में लिप्त पाए जाने वाले खिलाड़ियों, मैच अधिकारियों और फ्रेंचाइजी मालिकों के खिलाफ अभियोजन के लिए आइसीसी निर्णय लेगा। एसीएसयू के अध्यक्ष सर रोनी फ्लेनगन आइसीसी के सालाना सम्मेलन के दौरान यह बात रखेंगे। फ्लेनगन आइसीसी सदस्यों को सुझाव देंगे कि क्रिकेट में भ्रष्टाचार के खतरे से कैसे काबू पाया जाए। ये चिंताएं इंडियन प्रीमियर लीग, बांग्लादेश प्रीमियर लीग और श्रीलंका प्रीमियर लीग जैसी घरेलू और लुभावनी टी20 लीग में स्पॉट फिक्सिंग और सट्टेबाजी के विभिन्न मामलों के प्रकाश में आने के बाद जाहिर की गई थी। अभी तक दिल्ली पुलिस ने आइपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में तीन खिलाड़ियों एस श्रीसंत, अजित चंदीला और अंकित चव्हाण को गिरफ्तार किया था जबकि क्रिकेटर सिद्धार्थ त्रिवेदी को गवाह बनाया है। इसके अलावा राजस्थान रॉयल्स के मालिक राज कुंद्रा से भी पूछताछ की गई। दिल्ली पुलिस का दावा है कि कुंद्रा ने आइपीएल मैचों पर सट्टा लगाया था। चेन्नई सुपर किंग्स के टीम प्रिंसिपल गुरुनाथ मयप्पन को भी सट्टेबाजी में कथित भागीदारी के कारण गिरफ्तार किया गया था। बाद में श्रीसंत, मयप्पन और चव्हाण को जमानत मिल गई।