18 February 2019



प्रमुख समाचार
लोकायुक्त से नहीं छिनेगा 'लाल बत्ती' का दर्जा
03-07-2013
प्रदेश में लोकायुक्त, विधानसभा उपाध्यक्ष और मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष से \'लाल बत्ती\' का दर्जा नहीं छिनेगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने परिवहन विभाग द्वारा भेजे गए प्रस्ताव में संशोधन कर इन तीनों पदों के नाम \'लाल बत्ती\' की पात्रता वाली वाली सूची में जो़़डने के निर्देश दिए हैं। वहीं मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक के पदों को लाल की जगह पीली बत्ती के दर्जे वाली सूची में रखा गया है। परिवहन महकमा इस संबंध में आदेश जारी करेगा।

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद राज्य सरकार ने प्रदेश में वीवीआईपी और वीआईपी [वरिष्ठ अफसर और राजनेताओं] को दिए जाने वाले \'लाल-पीली बत्ती\' दर्जे की सूची को नए सिरे से तैयार किया है। परिवहन विभाग ने जो सूची तैयार कर मुख्यमंत्री के अनुमोदन के लिए भेजी, उस सूची में लोकायुक्त, विधानसभा उपाध्यक्ष और मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष को \'लाल बत्ती\' दर्जे वाली सूची से हटाकर \'पीली बत्ती\' दर्जे वाली सूची में रखा था। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद इन तीनों पदों को पूर्व की तरह \'लाल बत्ती\' दर्जे वाली सूची में रखा गया है।

इन्हें रहेगा लाल बत्ती का दर्जा

राज्यपाल, मुख्यमंत्री, हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस, विधानसभा अध्यक्ष, विधानसभा उपाध्यक्ष, लोकायुक्त, मंत्री, राज्यमंत्री, नेता प्रतिपक्ष विधानसभा और मानव अधिकार आयोग अध्यक्ष।

इन्हें रहेगा पीली बत्ती का दर्जा

संभागीय आयुक्त, कलेक्टर, एसपी, एएसपी, एसडीओपी और सीएसपी।

इनसे छिनेगा लाल बत्ती का दर्जा

हाईकोर्ट के जस्टिस, मुख्य सूचना आयुक्त, उप लोकायुक्त, सूचना आयुक्त, प्रदेश के उपमंत्री एवं संसदीय सचिव, भूतपूर्व मुख्यमंत्री, उपाध्यक्ष राज्य योजना मंडल, अध्यक्ष लोक सेवा आयोग, अध्यक्ष राज्य विद्युत नियामक आयोग, राज्य निर्वाचन आयुक्त, महाधिवक्ता, मुख्य सचिव, अध्यक्ष राजस्व मंडल, प्रमुख सचिव गृह, प्रमुख सचिव विधानसभा एवं पुलिस महानिदेशक।

इनसे छिनेगा पीली बत्ती का दर्जा

सदस्य राजस्व मंडल, परिवहन आयुक्त, आबकारी आयुक्त, महानिरीक्षक अग्नि शमन सेवा, जिला एवं सत्र न्यायाधीश, मुख्य न्यायीक दंडाधिकारी सहित सभी न्यायिक अधिकारी, रेंज पुलिस उप महानिरीक्षक, महापौर नगर पालिका निगम, अध्यक्ष नगर पालिका निगम, जिला पंचायत अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष, राज्य शिष्टाचार अधिकारी, उप परिवहन आयुक्त, क्षेत्रीय एवं जिला परिवहन अधिकारी, परिवहन एवं वन विभाग के उड़नदस्ता के प्रभारी, जिला सेनानी होमगार्ड, नगर निरीक्षक पुलिस, अग्निशमन अधिकारी, जिला वाणिज्यिक कर अधिकारी एवं जिला आबकारी अधिकारी।