21 February 2019



प्रमुख समाचार
आयकर अफसरों के खिलाफ एफआईआर कराएंगे राजौरा
03-07-2013
आयकर छापे में हाई कोर्ट से राहत मिलने के बाद आईएएस अफसर डॉ. राजेश राजौरा अब आयकर अफसरों के खिलाफ मोर्चा खोलने की तैयारी में जुटे हुए हैं। वे कूटरचित दस्तावेजों के आधार पर छापे की भूमिका तैयार करने वाले आयकर अफसरों के खिलाफ एक-दो दिन में एमपी नगर थाने में एफआईआर दर्ज कराएंगे। इसके लिए डॉ. राजौरा वकीलों से राय ले रहे हैं। वहीं, शासन को हाई कोर्ट के फैसले की सत्यापित प्रतिलिपि मंगलवार को सौंपेंगे। हाई कोर्ट, जबलपुर के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश केके लाहोटी और एमए सिद्दीकी की पीठ ने बीते दिनों अपने फैसले में तत्कालीन गृह सचिव डॉ. राजेश राजौरा के घर पर आयकर विभाग द्वारा मारे छापे की कार्रवाई को अवैध घोषिषत कर रद्द कर दिया है। इस फैसले के बाद पूरी आईएएस बिरादरी उनके साथ ख़़डी हो गई है। सभी तरप से मिल रहे समर्थन से खुश डॉ. राजौरा ने अब उन अफसरों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का मन बना लिया है। सूत्रों ने बताया कि वकीलों के संपर्क में हैं और दस्तावेज तैयार कर रहे हैं। वहीं, शासन को भी हाई कोर्ट के आदेश की सत्यापित प्रतिलिपि वे मंगलवार तक सौंपेंगे। इसके आधार पर ही शासन डॉ. राजौरा को जारी आरोप पत्र को वापस लेने या नहीं लेने के संबंध में निर्णय लेगा।केविएट नहीं करेंगे दाखिल डॉ. राजौरा ने कहा कि हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ आयकर विभाग सुप्रीम कोर्ट में जाने का फैसला करता है तो भी वे केविएट दायर नहीं करेंगे। अपील दायर होने पर वहां भी कानूनी लड़ाई लड़ी जाएगी। सलाह ले रहा हूं डॉ. राजेश राजौरा, सचिव, ग्रामीण विकास ने बताया कि आगे कदम उठाने के लिए मैं स्वतंत्र हूं। प्रकरण को लेकर वकीलों के संपर्क में हूं। वे जो भी मार्गदर्शन देंगे, उसके मुताबिक आगे कदम उठाए जाएंगे।