18 February 2019



प्रादेशिक
जिद पर अड़े जूनियर डॉक्टर, सरकार भी सख्त
12-07-2013
जूनियर डॉक्टर शुक्रवार से अनिश्चितकालीन सामूहिक अवकाश जाने की जिद पर अड़े हैं। वहीं चिकित्सा शिक्षा मंत्री अनूप मिश्रा ने कहा है कि अगर जूडा शुक्रवार से हड़ताल पर गए तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। जूडा के एडमिशन भी निरस्त किए जा सकते हैं। जूडा की हड़ताल का खामियाजा मरीजों को भुगतना पड़ेगा। इससे हमीदिया और सुल्तानिया जनाना अस्पताल में स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित होंगी। इन दोनों ही अस्पतालों में राजधानी के साथ ही आसपास के जिलों से ब़़डी संख्या में गंभीर मरीजों को रेफर किया जाता है। जूडा के नहीं होने से दोनों अस्पतालों में जहां रटीन ऑपरेशन नहीं होंगे, वहीं इमरजेंसी सेवाएं भी प्रभावित होंगी। ओपीडी में बीपी लेना, मरीज की हिस्ट्री लिखने आदि का काम जूडा ही करते हैं। उनकी अनुपस्थिति में सारा बोझ सीनियर डॉक्टरों पर रहेगा प्लास्टर बांधने व खोलने का काम भी प्रभावित होगा।