18 February 2019



प्रादेशिक
घर में बना रखा था मुन्नाभाइयों का ट्रेनिंग सेंटर
18-07-2013

इंदौर। पीएमटी में मुन्नाभाई गिरोह के सरगना डॉक्टर जगदीश सागर के स्कीम नंबर 94 स्थित दूसरे मकान पर छापा मारने पहुंची पुलिस की टीम को एक ट्रेनिंग सेंटर मिला। घर के भीतर बने इसी ट्रेनिंग सेंटर पर वो मुन्ना भाइयों को पीएमटी की परीक्षा के पहले ट्रेनिंग देता था। उसने मीडिया से कहा, समय आने पर कुछ नामों का खुलासा करूंगा। मंगलवार को सरगना डॉ. सागर के स्कीम नंबर 94 स्थित मकान पर छापा मारने वाली क्राइम ब्रांच और पुलिस की टीम बुधवार दोपहर फिर से वहां पहुंची । कॉलोनी में सागर के तीन मकान हैं। टीम ने सागर के दूसरे मकान का ताला उससे ही खुलवाया और उसकी तलाशी ली। पुलिस टीम वहां पर करीब 25 मिनट तक जांच करती रही। क्राइम ब्रांच निरीक्षक सोमा मलिक बाग़़डी के नेतृत्व में पहुंची टीम ने घर के हर हिस्से की तलाशी ली। दो मंजिला मकान के तल मंजिल पर स्थित हॉल खोला गया तो वहां पर ब्लैक बोर्ड और कई कुर्सियां मिलीं। पुलिस टीम को पीएमटी और व्यापमं से जु़़डे कई दस्तावेज बरामद हुए हैं, जिन्हें जांच के लिए टीम अपने साथ ले गई है। कभी हंसा तो कभी चुप पुलिस से घिरे आरोपी डॉ. सागर को हथकड़ियों में जकड़ कर लाया गया था। इस दौरान कभी वो गंभीर दिखा तो कभी हंसता हुआ दिखाई दिया। छत और चेंबर भी तलाशे डॉ. सागर के घर पहुंची टीम ने घर के सभी हिस्सों की जांच की। इस घर का उपयोग डॉक्टर सागर रहने के लिए नहीं करता था। पुलिस जवान उसके घर की छतों पर च़़ढ गए। उन्होंने छत पर रखी पानी की टंकियों और चेंबरों की भी तलाशी ली। तीसरे घर में भी घुसी पुलिस आरोपी डॉ. सागर के दूसरे मकान में तलाशी लेने के बाद टीम वहां से रवाना हो गई। कुछ देर बाद टीम वापस लौट कर आई और सामने ही स्थित उसके तीसरे मकान का ताला तोड़कर प्रवेश किया। यहां पर अधिकारियों ने पार्किंग में खड़ी उसकी बाइकों का निरीक्षण किया कुछ देर यहां पर रहने के बाद पुलिस टीम वहां से लौट गई।