24 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
बुल्गारिया में संसद की घेराबंदी खत्म, सभी सांसद मुक्त
25-07-2013

सोफिया। बुल्गारिया में पुलिस ने बंधक बनाए गए सांसदों, मंत्रियों और अन्य लोगों को बुधवार को मुक्त करा लिया। सरकार विरोधियों ने संसद की इमारत को घेर लिया था और मंत्री व सांसद आठ घंटे से अधिक समय तक उसमें फंसे रहे। प्रदर्शनकारी वामपंथी झुकाव वाली सरकार के सत्ता से हटने की मांग कर रहे हैं। सांसदों को मुक्त कराने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। उन्हें दो बार कोशिश करने के बाद प्रदर्शनकारियों के बीच से बस में सांसदों और मंत्रियों को लेकर निकलना पड़ा। इसके बाद ही संसद की इमारत में फंसे लोग बाहर आ सके।

राजधानी सोफिया में पिछले 40 दिनों से सरकार विरोधी प्रदर्शन हो रहे हैं। मंगलवार शाम को प्रदर्शनकारियों ने 109 लोगों को संसद में बंधक बना लिया। इनमें तीन मंत्री, करीब 30 सांसद और उनके कर्मी शामिल थे। पुलिस ने मंगलवार को भी इन लोगों को बस से संसद से निकालने का प्रयास किया था। लेकिन, प्रदर्शनकारी बस पर पत्थर फेंकने लगे और उसका मार्ग रोक दिया। इस घटना में दो पुलिस अधिकारियों और सात प्रदर्शनकारियों को सिर में चोट आई थी। उनका अस्पताल में इलाज चल रहा है।

दूसरे प्रयास में पुलिस संसद को प्रदर्शनकारियों के कब्जे से मुक्त करा पाई। इससे पहले राष्ट्रपति रोजेन प्लेवनेलीव ने प्रदर्शनकारियों से सभ्य और शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करने की अपील की थी। उन्होंने कहा कि एक महीने से ज्यादा समय से जारी प्रदर्शन अब तनावपूर्ण और भड़काऊ होते जा रहे हैं। यह देश के हित में नहीं। राष्ट्रपति ने पुलिस को निर्देश दिया था कि शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई न की जाए। सोशलिस्टों के समर्थन वाली सरकार मई में समय पूर्व चुनाव के बाद सत्ता में आई थी। इससे पहले की कैबिनेट ने विरोध प्रदर्शन के बीच इस्तीफा दे दिया था।

240 सदस्यीय संसद में सरकार के पास केवल 120 सीटें हैं। विवादों में रहे मीडिया मुगल डेलेन पीवस्की की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी के प्रमुख पद पर नियुक्ति के बाद विरोध प्रदर्शन प्रारंभ हुए थे। उनकी नियुक्ति रद कर दी गई थी, लेकिन प्रदर्शनकारी इस बात पर जोर दे रहे हैं कि सरकार भ्रष्ट है। उसे इस्तीफा दे देना चाहिए। एक महीने से ज्यादा समय से शांत प्रदर्शन मंगलवार को यकायक उग्र हो गया था।