17 February 2019



प्रादेशिक
जोशी हत्याकांड के मुख्य आरोपी लोकेश को जमानत
25-07-2013
बहुचर्चित संघ प्रचारक सुनील जोशी हत्याकांड के मुख्य आरोपी [महू निवासी] लोकेश शर्मा को जमानत मिल गई। बुधवार को एनआईए की विशेष कोर्ट ने 50 हजार की जमानत राशि पर रिहा किया है। इस मामले में एनआईए ने शर्मा के साथ कुल 8 अन्य को सह आरोपी के रूप में गिरफ्तार किया था।

लोकेश शर्मा समझौता ब्लास्ट, मालेगांव ब्लास्ट, मक्का मस्जिद ब्लास्ट, अजमेर ब्लास्ट में भी आरोपी हैं।

गौरतलब है कि 2007 में देवास के समीप चूना भट्टी के पास हुई जोशी की हत्या के मामले में एनआईए ने 24 जनवरी 2013 को अपनी जांच डायरी भोपाल में एनआईए के विशेष न्यायाधीश के समक्ष पेश कर शर्मा को जोशी का हत्यारा बताया था और उसकी गिरफ्तारी की थी, लेकिन गिरफ्तारी के बाद एनआईए तय समयसीमा [180 दिन] में चालान पेश नहीं कर पाई। इसका फायदा बचाव पक्ष को मिला और भारतीय दंड संहिता की धारा 167 [ 2] के तहत लोकेश शर्मा को बुधवार को 50 हजार रुपए की जमानत पर रिहा कर दिया गया।

इंदौर जिले के और आरोपी हैं हत्याकांड में

जोशी हत्याकांड में शर्मा के अलावा इंदौर जिले के देपालपुर के राजेंद्र चौधरी उर्फ पहलवान, बोरखड़ा के बलवीरसिंह, महूगांव के दिलीप जगताप के नाम शामिल हैं। इसके अलावा साध्वी प्रज्ञा सिंह, हर्षद सोलंकी, देवास के वासुदेव परमार व रामचरण पटेल के नाम भी शामिल हैं।

अब तक इनको मिली जमानत

मामले में अब तक लोकेश शर्मा के अलावा बोरखे़़डा के बलवीर, देवास के वासुदेव परमार, रामचरण पटेल, इंदौर के आनंदराज कटारिया को जमानत मिल चुकी है। अब दिलीप जगताप, राजेंद्र चौधरी साध्वी प्रज्ञा सिंह व हर्षद सोलंकी ही सलाखों के पीछे हैं।

हमें कानून पर पूरा भरोसा

बुधवार को जमानत के बाद लोकेश के पिता पंडित गोपाल शर्मा ने कहा कि हमें भगवान पर पूरा भरोसा है और कानून पर भी। न्याय व्यवस्था में हमारा पूरी विश्वास है। एक दिन इसी तरह हमारा बेटा सभी मामलों में बरी हो जाएगा। क्योंकि उसने ऐसा कुछ नहीं किया है जिस तरह के झूठे मामलों में उसे फंसाया गया है।

विक्रम दुबे, लोकेश शर्मा के अभिभाषक ने कहा कि बुधवार को एनआईए के विशेषष न्यायाधीश श्री पांडे ने भोपाल की अदालत से लोकेश शर्मा को सुनील जोशी हत्याकांड में 50 हजार रुपए की जमानत पर रिहा किया है।