17 February 2019



प्रादेशिक
शिवराज ब्रांड के आगे सभी फैक्टर फीके
27-07-2013

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपनी सरकार की उपलब्धियों से संतुष्ट हैं। उनका मानना है कि राज्य की जनता की उन्होंने पूरी ईमानदारी से सेवा की है। उन्हें भरोसा है कि जनता एक बार फिर उन्हें राज्य की सत्ता की बागडोर सौंपने का फैसला करेगी। मुख्यमंत्री कहते है कि वह आत्मविश्वास से लबरेज इसलिए है कि उन्होंने बीमार राज्य को विकास की दौड़ में शामिल कराया है। जन-आशीर्वाद यात्र में उन्हें जनता का मिल रहा प्यार और दुलार इसका प्रमाण है। अब उनका लक्ष्य मध्य प्रदेश को विकसित राच्यों में अग्रणी बनाना है। जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान \'नई दुनिया\' संवाददाता अरविंद तिवारी से मुख्यमंत्री ने खुलकर बातचीत की। उन्होंने कहा कि इस समय जनता मुझे देख रही है। इसलिए बाकी सब बातें गौण रहेंगी। जनता का मुझ पर पूरा भरोसा है और मैं तो खुद उनसे कह रहा हूं कि भैया मुझे देखो, कमल पर मुहर लगाओ और एक बार फिर भाजपा की सरकार बनवा दो। बकौल, शिवराज जनता पर मेरे भरोसे का ठोस कारण है। मैंने जनता को सहभागी बनाकर काम किया है। निर्णय थोपे नहीं गए हैं बल्कि इनमें जनता की सहभागिता रही है। इसलिए नतीजे भी अच्छे रहे हैं। मैं तो बार-बार ये दावा करता हूं और कांग्रेस के नेताओं को चुनौती देता हूं कि जिस फोरम पर चाहो, मुझसे विकास के मुद्दे पर खुली बहस कर लो, लेकिन वे इससे मुंह चुराते हैं और बस आरोपों की राजनीति में लगे रहते हैं। आरोप भी ऐसे कि जो कभी साबित ही नहीं हो पाते। मुख्यमंत्री का कहना है कि मैं लोगों से जो वादे करता हूं, वे पूरे करता हूं। मेरे पास मेरी एक-एक घोषणा और उस पर क्रियान्वयन का हिसाब है। घूंघट काढ़ने वाली और घाघरा लूगड़ा पहनने वाली गांव की एक महिला जिसने कभी घर से बाहर कदम नहीं रखा, वह छात्र जिसे राजनीति से कोई वास्ता नहीं है, वह किसान जो इस मौसम में खेत से बाहर निकलता नहीं, वे मुझे अपना समय दे रहे हैं। इसका मतलब, कहीं न कहीं वे मुझे अपने बीच का तो मानते हैं न। अब राजा, महाराजा का दौर गया पर एक किसान का बेटा कैसे राज कर ले, यह विरोधियों का पच नहीं रहा है। मध्य प्रदेश को लेकर भविष्य की अपनी योजनाओं पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सड़क, पानी व बिजली के मामले में हम एक स्तर तो पार कर चुके हैं। अब मेरा ध्यान उन योजनाओं पर है, जिनसे दूरगामी नतीजे मिलेंगे। हम एक विजन प्लान बनाकर इस पर काम कर रहे हैं। इसमें विशेषज्ञों की मदद भी ले रहे हैं। सिंचाई के मामले में अब हम मंझली योजनाओं पर काम कर रहे हैं ताकि सिंचाई का रकबा और बढ़े। लघु उद्योगों को हम और विस्तार दे रहे हैं ताकि इनसे स्थानीय स्तर पर रोजगार के अवसर बढ़ सकें। मुख्यमंत्री ने बताया कि इसी तरह जो एजुकेशन हब हम प्लान कर रहे हैं, उसमें भी ऐसे संस्थान लाए जाएंगे जो युवाओं को उनकी भविष्य की जरूरतों के मुताबिक तैयार कर सकें। हमारा जोर बड़े शहरों के आसपास सैटेलाइट टाउनशिप विकसित करने पर है। प्रदेश की सभी बड़ी सड़कें ठीक हो गई हैं। अब हम पहुंच मार्गो को ठीक करने में लगे हैं और हमारा लक्ष्य टोले-मजरे तक की सड़कों को दुरुस्त करने का हैं। राज्य में बिजली की उपलब्धता के संबंध में उनका कहना हे कि 17 हजार मेगावॉट बिजली की उपलब्धता का प्लान हमारे पास तैयार है। इसके बाद हम वैकल्पिक ऊर्जा के स्त्रोतों पर काम कर रहे हैं। इसके चलते जावद में 400 मेगावॉट का और राजगढ़ में भी एक बड़ा सोलर हब हम तैयार करवा रहे हैं। पवन ऊर्जा के भी कुछ क्षेत्र हमने चिन्हित किए हैं, जिन पर काम चल रहा है।