18 February 2019



खेलकूद
भारत ने जिंबॉब्वे को दी करारी शिकस्त, मोहित बने मैन ऑफ द मैच
01-08-2013

बुलावायो। भारत ने चौथे एकदिवसीय मुकाबले में रोहित शर्मा और सुरेश रैना के अर्धशतक की मदद से जिंबॉब्वे पर नौ विकेट से शानदार जीत दर्ज की। पांच मैचों की सीरीज में भारत की यह लगातार चौथी जीत है। मैच के हीरो भारत के मोहित शर्मा रहे। अपना पहला मैच खेल रहे मोहित ने दस ओवरों में मात्र 26 रन देकर दो अहम विकेट लिए। इस दौरान उन्होंने तीन मैडन ओवर भी फेंके।

जिंबॉब्वे से जीत के लिए मिले 144 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही। रोहित शर्मा के साथ सलामी बल्लेबाजी के रूप में चेतेश्वर पुजारा उतरे। अपना पहला वनडे मैच खेल रहे भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा कुछ खास नहीं कर पाए और दसवें ओवर की तीसरी गेंद पर बोल्ड हो गए। उन्हें चतारा ने 13 रन के स्कोर पर चलता किया। पुजारा के आउट होने के समय भारतीय टीम का स्कोर 23 रन था। इसके बाद तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए विराट कोहली के जगह सुरेश रैना आए। सुरेश रैना ने रोहित शर्मा के साथ 122 रनों की साझेदारी कर भारत को 30.5 ओवर में नौ विकेट से जीत दिला दी। भारत के 145 रनों के स्कोर में रोहित शर्मा ने नाबाद 64 और सुरेश रैना ने नाबाद 65 रनों का योगदान दिया।

इससे पहले भारत और जिंबॉब्वे के बीच पांच एकदिवसीय मैचों की सीरीज के चौथे वनडे मुकाबले में भारत ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और मेजबान जिंबॉब्वे को 42.4 ओवर में 144 रन के अंदर ढेर कर डाला।

पहले बल्लेबाजी करने उतरी जिंबॉब्वे की शुरुआत खराब रही और पहले पांच ओवरों में मोहित शर्मा और शमी अहमद ने लगातार जिंबॉब्वे पर दबाव बनाकर रखा और सातवें ओवर की चौथी गेंद पर डेब्यू कर रहे भारतीय गेंदबाज मोहित शर्मा ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय विकेट हासिल कर लिया। मोहित ने सिकंदर रजा (7) को विकेट के पीछे कार्तिक के हाथों कैच कराया। इसके बाद जिंबॉब्वे को 11वें ओवर की चौथी गेंद पर दूसरा झटका भी लग गया जब हैमिल्टन मसाकाद्जा (10) रन आउट हो गए। फिर बल्लेबाजी करने आए जिंबॉब्वे के कप्तान ब्रैंडन टेलर जो कि एक बार फिर फ्लॉप होते दिखे। टेलर को रवींद्र जडेजा ने शू्न्य पर एलबीडब्ल्यू करके पवेलियन भेज दिया और भारत को तीसरी सफलता हाथ लगी। विकेटों का पतझड़ यहीं नहीं थमा। इसके बाद सियन विलियम्स भी शून्य पर आउट हो गए। विलियम्स को उनादकट ने बोल्ड किया। इसके ठीक अगले ही ओवर में रवींद्र जडेजा ने अपना दूसरा विकेट हासिल करते हुए वूसी सिबांदा (24) को बोल्ड किया और भारत को मिली पांचवीं सफलता। इसके बाद 36.6 ओवर में वॉलर (35) को मोहित शर्मा ने विकेट के पीछे कैच कराकर अपने डेब्यू मैच में अपना दूसरा विकेट झटका जबकि दो ओवर के बाद शमी अहमद ने प्रोस्पर उत्सेया (1) को रोहित शर्मा के हाथों कैच कराकर पवेलियन का रास्ता दिखाया और भारत को सातवीं सफलता हाथ लगी। इसके बाद अमित मिश्रा ने आखिर में चतारा (1), विटोरी (8) और चिनोया (0) को आउट करके सर्वाधिक तीन विकेट लिए और जिंबॉब्वे को 144 के अंदर समेट दिया।

भारत ने इस मैच में दो बदलाव किए। शिखर धवन और विनय कुमार को आराम दिया गया जबकि उनकी जगह चेतेश्वर पुजारा और मोहित शर्मा को मौका दिया गया। पुजारा जहां अपने वनडे करियर का आगाज किया, वहीं मोहित शर्मा ने अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय मैच खेला।