15 February 2019



राष्ट्रीय
.तो क्या दुर्गा के समर्थन में आड़े आ रही वोट बैंक की सियासत?
03-08-2013
आइएएस दुर्गा के निलंबन को सांप्रदायिक सद्भाव खराब करने की कोशिश करार देने के बयानों को उस वक्त करारा झटका लगा जब खुद यूपी एग्रो के चेयरमैन नरेंद्र भाटी के भाई कैलाश भाटी ने एक निजी चैनल द्वारा किए स्टिंग ऑपरेशन में इस मामले की पूरी सच्चाई उगल दी। उन्होंने कहा कि दुर्गा द्वारा अवैध खनन माफिया के खिलाफ अंकुश लगाने के बाद सपा नेताओं ने उनकी काफी शिकायतें सीधे सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से की गई थीं। इसके बाद ही उन्हें हटाया गया है। कैलाश की बातों से सपा सरकार और रेत माफिया के बीच रिश्तों की गहराई का भी पता चल रहा है।

उधर, दुर्गा शक्ति नागपाल मामले में दखल देते हुए सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखी है। सोनिया ने कहा कि किसी अधिकारी के साथ अन्याय ना हो इस बात का ख्याल रखा जाना चाहिए।

ट्विटर पर बोले लोग, जागो और दुर्गा के साथ खड़े हो

दूसरी ओर ईमानदारी और कर्मठता का सिला निलंबन से चुका रही आइएएस अधिकारी दुर्गा शक्ति नागपाल के समर्थन में तमाम राजनीतिक दल और संगठन खड़े हो गए हैं, लेकिन कांग्रेस को मुस्लिम वोट बैंक की भी चिंता है। यही कारण है कि मस्जिद की दीवार गिराए जाने का मामला बनाकर निलंबित की गईं दुर्गा के पक्ष में खुलकर आने में पार्टी परहेज कर रही है। उत्तर प्रदेश में सपा से मुस्लिम वोटों की होड़ में लगी कांग्रेस ने दुर्गा के निलंबन का विरोध किया है, लेकिन उसने स्पष्ट किया कि वह मस्जिद की दीवार गिराए जाने के खिलाफ है।

दुर्गा से जुड़ी हर खबर के लिए यहां क्लिक करें

हालांकि भाजपा, ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल और आम आदमी पार्टी दुर्गा के साथ खुलकर खड़ी हो गई हैं। भाजपा ने राच्य सरकार पर खनन माफिया को बचाने के लिए आइएएस को निलंबित का आरोप लगाया। वहीं आम आदमी पार्टी ने उन्हें अपनी टिकट पर चुनाव लड़ने का प्रस्ताव दे दिया है। उत्तर प्रदेश सरकार पर चौतरफा हमलों के बीच कांग्रेस ने मुस्लिम वोटों की नाराजगी के डर से बीच का रास्ता अख्तियार किया। दुर्गा के पक्ष में होने के बावजूद कांग्रेस प्रवक्ता भक्त चरणदास ने मस्जिद की दीवार गिराए जाने के मामले में सपा के सुर में ही सुर मिलाया।

पढ़ें : स्टिंग ऑपरेशन में सामने आया दुर्गा के निलंबन का सच

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, \'कांग्रेस साफ कर देना चाहती है कि हम मनमाने तरीके से मस्जिद की दीवार गिराए जाने के बिल्कुल खिलाफ हैं।\' साथ ही उन्होंने जोड़ा कि दुर्गा शक्ति का निलंबन मस्जिद की दीवार गिराए जाने पर नहीं बल्कि रेत माफिया पर कार्रवाई के लिए किया गया है। भाजपा ने सपा पर बेहद तीखा हमला बोला। पार्टी प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी ने कहा कि सच्चाई यह है राच्य में लूट का माहौल है। दुर्गा शक्ति ने उस पर अंकुश लगाने की कोशिश की तो सांप्रदायिक सद्भाव खराब करने का आरोप लगाकर उन्हें किनारे कर दिया।

पढ़ें : दुर्गा ने नहीं गिराई दीवार, फिर भी अखिलेश ऐसा क्यों कह रहे हैं?

उन्होंने मुख्यमंत्री से पूछा कि अब तक राच्य में 27 दंगे हुए हैं, सरकार ने कितनों के खिलाफ कार्रवाई की? फिर भी उन्हें कार्रवाई करनी थी तो उनका स्थानांतरण किया जा सकता था। दूसरी ओर, आम आदमी पार्टी ने दुर्गा शक्ति को राच्य सरकार के दमन के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरने का आमंत्रण दिया है। बयान जारी कर पार्टी ने कहा कि सभी कार्यकर्ता मिलकर यह सुनिश्चित करेंगे कि उनकी जीत पक्की हो। ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल भी पूरी घटना की जांच के लिए जल्द ही एक टीम गौतमबुद्ध नगर भेजने की तैयारी में है।

पढ़ें : हाईकोर्ट ने भी दुर्गा को बहादुर कहा

संस्था के उपाध्यक्ष एसके अग्रवाल ने कहा कि नौकरी में आने पर सामान्यतया अधिकारी ईमानदार होते हैं लेकिन राजनीतिज्ञाों के दबाव में वह दब जाते हैं। दुर्गा शक्ति की तरह जो नहीं दबते उन्हें सरकार के कोप का शिकार होना पड़ता है।