17 February 2019



प्रमुख समाचार
दुर्गा शक्ति को मप्र आईएएस अफसरों का 'मॉरल सपोर्ट'
03-08-2013
ग्रेटर नोएडा उत्तर प्रदेश की एसडीएम दुर्गा शक्ति नागपाल के पक्ष में मध्य प्रदेश आईएएस लॉबी मॉरल सपोर्ट में ख़़डी हो गई है। मप्र आईएएस एसोसिएशन की अध्यक्ष अरणा शर्मा का कहना है कि आईएएस दुर्गा शक्ति के साथ गलत व्यवहार हुआ है। हमारा पूरा कॉडर दुर्गा के साथ नैतिक रूप से खड़ा रहेगा।

उत्तर प्रदेश आईएएस एसोसिएशन की ऑल इंडिया सर्विस डिसिप्लनरी अपील एंड रूल 1969 में संशोधन की मांग के संबंध में अध्यक्ष श्रीमती शर्मा का कहना है कि अभी इस मामले में हम वेट एंड वॉच की स्थिति में है। उन्होंने कहा कि मप्र में उत्तर प्रदेश जैसे हालात नहीं है। यहां के राजनेता और अफसरों में अच्छा तालमेल है। श्रीमती शर्मा ने यह भी कहा कि अफसर को एक पद पर कम से कम दो से तीन साल काम करने का अवसर मिलना चाहिए। राजनीतिक दबाव में उनका स्थानांतरण करना गलत है। उन्होंने कहा कि अभी इस तरह के हालात मप्र में नहीं है। वहीं जब मंत्रालय में पदस्थ अन्य आला अफसरों से इस मामले में चर्चा की गई तो कुछ अफसरों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि इस नियम में संशोधन होना चाहिए। इससे आईएएस अफसर स्वतंत्र रूप से बेहतर काम कर सकेंगे। अभी तबादले के डर से और अच्छे पद के फेर में कई आईएएस अफसर राजनेताओं के इशारे पर काम कर रहे हैं।

कार्रवाई अमान्य हो

भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी का कहना है कि उप्र की आईएएस अफसर दुर्गा शक्ति नागपाल को निलंबित किए जाने के निर्णय को केंद्र सरकार खारिज करे। उन्होंने कहा कि ईमानदार अफसर को वोट बैंक की राजनीति में उप्र सरकार द्वारा निलंबित किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है।

मप्र के सेवानिवृत्त मुख्य सचिव निर्मला बुच ने

नियमों को बदलने से कोई बदलाव नहीं आने वाला। यदि नियम बदलेंगे तो उसका दुरुपयोग भी नए तरीकों से होने लगेगा। बेहतर यह है कि ऐसे मामलों में उच्च स्तर पर संयम से काम लिया जाए। नियमों के दुरुपयोग के विरोध में आवाज उठाना उचित है।