21 February 2019



प्रादेशिक
पांच बेटियों के हत्यारे पिता की फांसी पर रोक
09-08-2013
सुप्रीम कोर्ट ने सिहोर जिले में पांच पुत्रियों की हत्या करने वाले पिता मगनलाल बरेला को फांसी देने पर अगले आदेश तक रोक लगा दी। मगनलाल को गुरुवार तड़के जबलपुर में फांसी दी जानी थी। प्रधान न्यायाधीश पी. सतशिवम की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने मगनलाल को फांसी देने पर अगले आदेश तक रोक लगाई। कोर्ट ने इसके साथ ही इस मामले को पहले से ही लंबित उन मामलों के साथ संलग्न कर दिया है जिनमें विभिन्न आधारों पर मौत की सजा को निरस्त करने का अनुरोध किया गया है। कोर्ट ने पीपुल्स यूनियन फॉर डेमोक्रेटिक राइट्स के सदस्यों द्वारा मगनलाल को फांसी पर लटकाने के खिलाफ शीर्ष अदालत से संपर्क करने पर यह रोक लगाई। पीयूडीआर के कार्यकर्ता बुधवार को प्रधान न्यायाधीश के निवास पर गए थे। प्रधान न्यायाधीश ने आधी रात के करीब एक दिन के लिए मगनलाल की फांसी पर रोक लगा दी थी। यह आदेश तत्काल ही जबलपुर में जेल अधिकारियों को प्रेषिषत किया गया था। मगनलाल को अपनी दो पत्नियों के साथ संपत्तिविवाद के कारण पांच पुत्रियों लीला [6], सविता [5], आरती [4], फूल कंवर [2] और जमुना [1] की कुल्हाड़ी से 11 जून 2010 को हत्या करने का दोषी पाया गया था।