18 February 2019



प्रादेशिक
प्रजा को चार रूप में दर्शन देंगे राजा
19-08-2013

उज्जैन। भगवान श्री महाकालेश्वर सोमवार को श्रावण मास में अंतिम बार प्रजा का हाल जानने के लिए निकलेंगे। राजाधिराज चार रूप में भक्तों को दर्शन देंगे। भगवान पालकी में मनमहेश, हाथी पर चंद्रमौलेश्वर, गरुड़ पर शिव तांडव व नंदी पर उमा-महेश रूप में विराजित रहेंगे। सवारी में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान भी शामिल होंगे।

शाम 4 बजे महाकाल मंदिर के सभामंडप में शासकीय पूजन के पश्चात सवारी रवाना होगी।

परंपरागत मार्गो से होते हुए पालकी रामघाट पहुंचेगी, जहां शिप्रा के जल से भगवान का अभिषेक किया जाएगा। सावन मास की चार सवारियों के बाद भादौ मास में भी भगवान की दो सवारियां निकलेंगी।

2 सितंबर को शाही सवारी

भादौ मास के दूसरे सोमवार [2 सितंबर] को निकलने वाली अंतिम सवारी शाही होगी। शाही सवारी में प्रति वर्ष भक्तों का अपार सैलाब उम़़डता है। महाकाल शाही सवारी में नगर का व्यापक भ्रमण करते हैं।