18 February 2019



प्रादेशिक
36 घंटे की बारिश में महाकोशल पानी-पानी
19-08-2013
महाकोशल में तीन दिन से लगातार बारिश ने कई जिलों को पानी-पानी कर दिया है। महाकोशल के बालाघाट, मंडला, डिंडौरी, सिवनी, दमोह, नरसिंहपुर कटनी जिलों में नदियां खतरे के निशान पर हैं। कई स्थानों पर गांवों का जिला मुख्यालयों से संपर्क कट गया है। बालाघाट में पानी में दो बच्चों के बहने की सूचना है। बैहर में डायवर्जन पुल ढह जाने से बैहर-परसवा़़डा मार्ग पर आवागमन ठप हो गया है।

मंडला में बीते 36 घंटों में 8 इंच बारिश हुई है। नैनपुर में शांति नगर कॉलोनी में पानी घुस गया है। जिससे जलप्लावन के हालात पैदा हो गए हैं। सतर्कता बरतते हुए प्रशासन ने रविवार की सुबह करीब तीन दर्जन से अधिक घर खाली कराए हैं।

दमोह में बारिश के कारण जबलपुर-दमोह मार्ग वाया पाटन, तेजग़़ढ क्षेत्र गौरईया नदी के उफान पर होने के कारण रविवार को देर शाम तक बंद रहा। डिंडौरी में बजाग सहित समनापुर क्षेत्र में तेज बारिश के चलते उपजेल के समीप से बहने वाली कुतरेल नदी में बाढ़ आने से जबलपुर-अमरकंटक मार्ग बंद हो गया। शाम 6 बजे से नदी का जल स्तर तेजी से बढ़ा और पानी पुल के ऊपर से गुजरने लगा।

आवागमन बंद

बालाघाट। 24 घंटे में जिले में 48.4 मिमी बारिश हुई। लगातार बारिश से बाघ नदी पर रजेगांव स्थित पुल के ऊपर पानी होने के कारण रविवार त़़डके 4:30 बजे से आवागमन बंद हो गया। बालाघाट का एक बार फिर गोंदिया से सड़क संपर्क टूट गया है। रजेगांव पुल पर पानी होने के बाद भी यात्री बसों से उतरकर जान का जोखिम उठाकर पुल पार करते देखे गए। वैनगंगा नदी में पुराना पुल भी डूब गया है। जिले की नदियों के किनारे बसे गांवो के मुहाने पानी चढ़ गया है। प्रशासन ने अलर्ट घोषित कर दिया है।

सिवनी में जनजीवन अस्त-व्यस्त

सिवनी। रक-रककर हो रही बारिश से जनजीवन पर असर पड़ा है। नगर के बुधवारी बाजार, अनाज मंडी, शंकर म़ि़ढया राजपूत कॉलोनी, विवेकानंद वार्ड, महामाया वार्ड, पुलिस लाइन, एकता कॉलोनी समेत कई निचले इलाको की स़़डकें जलमग्न हैं। नैनपुर सीमा से लगे थावर नदी के पुल पर 2 फुट से ज्यादा पानी भरे होने के कारण 12 घंटों तक यातायात बाधित रहा। सिवनी मंडला मार्ग बंद हो गया है। केवलारी के पास सागर पुल में धीरे धीरे पानी बढ़ रहा है।

दमोह-जबलपुर मार्ग बंद

दमोह। तीन दिन से बारिश जारी है। नदी-नाले उफान पर होने से कई क्षेत्रों का अन्य जिलों से संपर्क टूट चुका है। जबलपुर-दमोह मार्ग वाया पाटन, तेजग़़ढ क्षेत्र गौरईया नदी के उफान पर होने के कारण रविवार को देर शाम तक बंद रहा। इसके अलावा हटा-कटनी मार्ग वाया कुण्डलपुर-पटेरा व्यारमा नदी के उफान पर होने, हटा से पन्ना मार्ग गेरमुर्रा नाला में पानी होने के कारण बंद है। कांटी व म़ि़डयादो का संपर्क बू़़ढा नाले पर पानी आ जाने हटा से संपर्क सुबह से लेकर शाम तक टूटा रहा।

36 घंटे में 8 इंच बारिश

मंडला। यहां पिछले 36 घंटों में 8 इंच बारिश दर्ज की गई। तेज बारिश की वजह से जिले की नदी नाले उफान पर बने हुए हैं। पुलों पर पानी होने की वजह से घुघरी रामनगर, कान्हा, मंडला-सिवनी मार्ग बंद रहा। इसके साथ साथ नेशनल हाईवे 12 अ में मटियारी नदी के आने के कारण आवागमन बंद रहा।

अमरकंटक-जबलपुर मार्ग बंद

डिंडौरी। बजाग सहित समनापुर क्षेत्र में तेज बारिश के चलते उपजेल के समीप से बहने वाली कुतरेल नदी में बा़़ढ आने से जबलपुर-अमरकंटक मार्ग बंद हो गया। शाम 6 बजे से नदी का जल स्तर तेजी से ब़़ढा और पानी पुल के ऊपर से गुजरने लगा। वहीं नर्मदा नदी का जल स्तर भी 3 सेमी ब़़ढा है। तेज बारिश के चलते दोपहर से ही समनापुर से बिछिया मार्ग बंद है।

चौबीस घंटों में 11 इंच बारिश

जबलपुर। बारिश ने पिछले कई सालों में ऐसा कहर नहीं बरपाया जैसा इस बार देखने मिल रहा है। शनिवार से लेकर रविवार की शाम तक ही 11 इंच बारिश दर्ज कर ली गई। मौसम विभाग ने अगले 72 घंटे में संभाग के कई इलाकों में भारी के संकेत दिए हैं।