19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
सीरिया के करीब अमेरिकी नौसेना, हमले की तैयारी
25-08-2013

वाशिंगटन। सीरिया में चले रासायनिक हथियार ने राष्ट्रपति बशर अल असद की परेशानी बढ़ा दी है। अमेरिकी नौसेना हमले की तैयारी करते हुए सीरिया के करीब पहुंच चुकी है। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा राष्ट्रीय सुरक्षा टीम से सीरिया के संबंध में चर्चा की है। विदेश मंत्री जॉन केरी ने संभावित हमले के संबंध में दुनियाभर के नेताओं से वार्ता करनी शुरू कर दी है। पिछले 24 घंटे में अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने सीरियाई विपक्ष परिषद के नेता, संयुक्त राष्ट्र महासचिव और यूरोपीय यूनियन व अरब लीग के नेताओं से बात की है। उन्होंने ब्रिटेन, फ्रांस, जॉर्डन, कतर, तुर्की, रूस, जर्मनी, संयुक्त अरब अमीरात, इटली और मिस्र के विदेश मंत्रियों से भी बात की है। विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि विदेश मंत्री ने निराश करने वाली रिपोर्टो, फोटो और वीडियो को लेकर अमेरिका की ओर से चिंता और नाराजगी जताई है। व्हाइट हाउस के एक अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रपति ने खुफिया एजेंसियों से संदिग्ध हमले के बारे में सभी सूचनाएं जुटाने का आदेश दिया है। इसके तुरंत बाद हम अगला कदम उठाएंगे। संकेत मिल रहे हैं कि अमेरिकी राष्ट्रपति असद के खिलाफ सैन्य कार्रवाई का फैसला ले सकते हैं। दूसरी ओर, मलेशिया जा रहे रक्षा मंत्री चक हेगल ने पत्रकारों को बताया कि उन्होंने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये राष्ट्रपति के वरिष्ठ सुरक्षा सलाहकारों से वार्ता की है। रक्षा मंत्रालय को अपने सभी सैन्य विकल्प तैयार रखने होंगे। ओबामा इनमें से कुछ भी चुन सकते हैं। अमेरिकी तैयारियों के बीच संयुक्त राष्ट्र की हथियार निरस्त्रीकरण प्रमुख एंजिला केन दमिश्क पहुंच गई हैं। उन्हें यूएन महासचिव बान की मून ने भेजा है। ब्रिटेन, फ्रांस और रूस ने असद एवं विद्रोहियों से यूएन विशेषज्ञों के साथ सहयोग की अपील की है। सीरिया के सरकारी टेलीविजन की रिपोर्ट में कहा गया है कि सैनिकों ने शनिवार को दमिश्क के उपनगर जोबार में विद्रोहियों के सुरंगों में प्रवेश किया है। वहां रासायनिक पदार्थ देखे गए हैं। कुछ सैनिकों ने दम घुंटने की शिकायत भी दर्ज कराई है। ईरानी राष्ट्रपति ने भी स्वीकारी रासायनिक हमले की बात तेहरान। ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने शनिवार को पहली बार स्वीकार किया कि सीरिया में रासायनिक हथियारों का प्रयोग हुआ है। उन्होंने इस प्रकार के हथियारों के प्रयोग को रोकने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अपील की है। सीरिया की मुख्य विपक्षी पार्टी नेशनल कॉलिशन ने सरकार पर बुधवार को रासायनिक हथियारों का प्रयोग कर करीब 1,300 लोगों की हत्या करने का आरोप लगाया है। एक सरकारी वेबसाइट के मुताबिक रूहानी ने कहा, \'सीरिया में रासायनिक हथियारों के प्रयोग से निर्दोष लोगों के मारे जाने की घटना बहुत दुखद है।\'