15 February 2019



राष्ट्रीय
लाइव: खाद्य सुरक्षा बिल के संशोधन पर लोकसभा में वोटिंग
26-08-2013

नई दिल्ली। खाद्य सुरक्षा बिल के संशोधन पर लोकसभा में मतदान शुरू हो गया है। उससे पहले इस बिल पर सदन में जमकर बहस हुई। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि पीडीएस व्यवस्था में सुधार की जरूरत है तभी खाद्य सुरक्षा बिल सफल होगा। आधार कार्ड से फर्जी राशन कार्ड खत्म होंगे। इस बिल के माध्यम से कमजोर वर्ग को अनाज उपलब्ध कराया जाएगा। उधर, संसद का मानसून छह सितंबर तक बढ़ा दिया गया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने संसद में खाद्य सुरक्षा बिल पर चर्चा के दौरान कहा कि ऐतिहासिक फैसला लेने का वक्त आ गया है हमें लोगों को खाद्य सुरक्षा देनी ही है। उन्होंने कहा कि साधन हो या नहीं हमें ये करना ही होगा। सोनिया गांधी ने कहा कि बच्चों को कुपोषण मुक्त करने में यह बिल अहम होगा। साथ ही उन्होंने कहा कि बिल की सफलता के पीडीएस में सुधार की जरूरत है। इससे पहले विश्व हिंदू परिषद की अयोध्या में होने वाली 84 कोसी परिक्रमा को लेकर जहां पूरे देश में विवाद छिड़ गया है वहीं सोमवार को सदन में भी इसके विरोध के सुर सुनाई दिए। भाजपा ने सदन में इस मुद्दे को पर जोरदार हंगामा किया। इसके चलते दोनों सदनों की कार्यवाही 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। संसद में खाद्य सुरक्षा बिल पर चर्चा शुरू हो गई है। इधर, भाजपा ने सदन में इस मामले को लेकर प्रश्नकाल स्थगित करने का नोटिस भी दिया। कार्यवाही के दौरान संसदीय कार्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि भाजपा कभी भी संसद को सुचारू रूप से चलने नहीं देती है। गौरतलब है कि कांग्रेस खाद्य सुरक्षा बिल को जल्द से जल्द पारित कराने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है। सत्तारूढ़ पार्टी ने इस उद्देश्य से पूरे सप्ताह उपस्थित रहने के लिए अपने सदस्यों के वास्ते तीन लाइन का व्हिप जारी किया है। सरकार ने सांसदों को सोमवार, मंगलवार, गुरुवार और शुक्रवार को कार्यवाही के दौरान कोई भी हंगामा न करने के आदेश जारी किए हैं। इससे पहले विपक्षी दलों के दवाब में आकर सरकार ने खाद्य सुरक्षा बिल में संशोधन करने का मन बना लिया है, लेकिन अन्नाद्रमुक प्रमुख जयललिता अब भी सरकार से नाराज हैं। उन्होंने कहा कि अगर सरकार उनके सुझावों को अपने बिल के संशोधन में शामिल नहीं करती है तो उनकी पार्टी लोकसभा में खाद्य सुरक्षा बिल के खिलाफ मतदान करेगी। जया ने पार्टी द्वारा सुझाए गए संशोधनों को कांग्रेस नीत संप्रग सरकार द्वारा खाद्य सुरक्षा विधेयक में शामिल नहीं किए जाने का आरोप लगाया है। जयललिता ने संपूर्ण शहरी आबादी को विधेयक के दायरे में लाने की मांग की है। खाद्य सुरक्षा के बिल के अलावा आज सरकार कई अन्य विधेयक पर भी चर्चा करेगी।