22 February 2019



राष्ट्रीय
एयरपोर्ट इंजीनियर की पत्नी ने लगाई फांसी
30-08-2013
एयरपोर्ट अथॉरिटी के एक सिविल इंजीनियर की पत्नी ने मंगलवार रात करीब तीन बजे फांसी लगा ली। मृतका का एक 7 साल का बेटा है। मृतका ने सुसाइड नोट में अपनी मौत के लिए खुद को जिम्मेदार ठहराया है।

गांधीनगर पुलिस के अनुसार राजा भोज विमानतल पर तैनात एयरपोर्ट अथॉरिटी के सिविल इंजीनियर अश्विनी कुमार मूलत: पटना [बिहार] के रहने वाले हैं। वे पर्णकुटी कॉलोनी के मकान नंबर 5/5 में रहते हैं। उनकी पत्नी रश्मि [30] ने बीती रात अपने कमरे में फांसी लगा ली। अश्विनी रश्मि को फंदे से उतारकर हमीदिया अस्पताल ले गए, जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया।

पोस्टमार्टम के बाद बुधवार को लाश अश्विनी कुमार के हवाले कर दी गई। वे शाम की फ्लाइट से शव लेकर पटना रवाना हो गए। पुलिस मर्ग दर्ज कर घटना की जांच कर रही है।

मैं अपनी मर्जी से मर रही हूं

रश्मि के पति अश्विनी कुमार ने डायरी के फटे पन्ने में लिखा एक सुसाइड नोट पुलिस को सौंपा है। सुसाइड नोट में खुदकुशी का कारण तो स्पष्ट नहीं है, लेकिन आत्महत्या के लिए मृतका ने खुद को जिम्मेदार ठहराया है।

रश्मि ने लिखा है कि मैं अपनी मर्जी से मर रही हूं। इसमें किसी का कोई दोष नहीं है। साथ ही उसने लिखा है कि वह न तो अच्छी बेटी बन सकी और न अच्छी पत्नी। बेटे को संबोधित करते हुए लिखा है कि वह अच्छी मां भी नहीं बन सकी। पुलिस सुसाइड नोट की जांच कर रही है।