15 February 2019



राष्ट्रीय
बापू के पेशी पर न पहुंचने से प्रदर्शन, पुतले फूंके
30-08-2013

शाहजहांपुर [जासं]। दुष्कर्म की शिकार छात्रा के हक में शुक्रवार को भी सरगर्मियां तेज रहीं। सुबह से ही आसाराम बापू की पेशी को लेकर कयासों का दौर शुरू हो गया। दिन चढ़ने के साथ जैसे ही उनके पेशी पर न पहुंचने का समाचार आया तो जन आक्रोश फिर फूट पड़ा। लोग सड़कों पर उतर आए। शहर से लेकर तहसीलों तक में आसाराम के पुतले फुंकने शुरू हो गए। दोपहर बाद राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग की टीम शाहजहांपुर पहुंची और पीड़ित छात्रा, मां तथा पिता के बयान दर्ज किए।

पढ़े : आसाराम पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार, पुलिस टीम भोपाल रवाना

जोधपुर पुलिस पर कार्रवाई में हीलाहवाली और पीड़ित छात्रा पर दबाव बनाने के आरोपों के बीच बाल आयोग ने मामले का स्वत: ही संज्ञान लिया है। आयोग के निर्देश पर शुक्रवार को बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष पूनम सक्सेना और सदस्य नम्रता धवन अपरान्ह पीड़ित छात्रा के घर पहुंचीं। पूरे मामले की तहकीकात की। टीम ने करीब डेढ़ घंटे की जांच में दुष्कर्म पीड़ित छात्रा के बयान दर्ज किए। एफआइआर का बारीकी से अवलोकन किया।

टीम ने पीड़ित की मां तथा पिता से भी बातचीत की। उन्हें ढांढस बंधाया। पीड़ित छात्रा की मनोदशा को भी सामान्य करने की कोशिश की। दोनों सदस्यों ने पूरे परिवार को सुरक्षा और बेटी को शिक्षा समेत अन्य मदद की भी पेशकश की।

पूनम सक्सेना ने \'जागरण\' को बताया कि आयोग को रिपोर्ट भेजने के साथ ही वह स्थानीय स्तर पर भी पीड़ित परिवार की हरसंभव मदद करेंगी।

इस सब के बीच जिले के लोगों का गुस्सा भी बरकरार रहा। उन्हें जैसे ही टीवी पर खबर मिली आसाराम पेशी पर नहीं पहुंचे तो तमाम संगठन सड़कों पर उतर आए। कार्रवाई की मांग को लेकर आसाराम के पुतले फूंकने शुरू कर दिए। जोधपुर पुलिस के खिलाफ नारे लगाए। उधर, देर शाम राष्ट्रीय लोकदल के सांसद जयंत चौधरी समेत जाट महासभा के कई पदाधिकारियों के आगमन को लेकर भी गहमागहमी रही।

प्लीज..बेटी का मजाक न बनाएं

हंगामे और आरोप-प्रत्यारोप के बीच शुक्रवार को छात्रा के पिता का सब्र का बांध टूट गया। कहा-प्लीज..राजनीतिक दल यदि बेटी को न्याय नहीं दिला सकते तो वे तमाशा भी न बनाएं। एफआइआर को झूठा बताकर बहादुर बेटी को मानसिक रूप से प्रताड़ना देकर कमजोर बनाने की कोशिश न करें। आसाराम को गिरफ्तार न करना और उनका पेशी पर न आना एक सुनियोजित साजिश है। उन्होंने मामले की सीबीआइ जांच कराने की मांग की।