19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
अपने ही नेता को मारने की फिराक में तहरीक-ए-तालिबान
02-09-2013

इस्लामाबाद। प्रतिबंधित आतंकी गुट तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) शांति वार्ता की हिमायत करने वाले पंजाब तालिबान के नेता असमतुल्ला मुआविया को बख्शने के मूड में नहीं है। टीटीपी के आतंकियों ने उत्तर वजीरिस्तान के मीरमाशा स्थित मुआविया के घर पर धावा बोला। एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, मुआविया की हत्या के लिए टीटीपी उसकी तलाश कर रहा है। मुआविया ने हाल ही में सरकार की ओर से शांति वार्ता का प्रस्ताव स्वीकार किया था, जिसके दंडस्वरूप टीटीपी ने उसे पंजाब तालिबान प्रमुख के पद से हटा दिया था और शांति वार्ता से इन्कार कर दिया था। इसके बाद मुआविया ने कहा था कि पंजाब तालिबान की अपनी शूरा (परिषद) है और टीटीपी को उसे बर्खास्त करने का कोई अधिकार नहीं है। खुफिया एजेंसी ने हाल ही में मुआविया को ढूंढ़कर उसकी हत्या की योजना बनाने वाले आतंकियों की फोन पर की गई बातचीत को रिकॉर्ड किया था। टीटीपी प्रवक्ता के मुताबिक, संगठन के सरगना हकीमुल्ला महसूद की अध्यक्षता में हुई बैठक में मुआविया को पंजाब तालिबान प्रमुख के पद से हटाने और उससे किसी भी तरह का संपर्क न करने का फैसला लिया गया था। इस बैठक के बाद टीटीपी आतंकियों ने मुआविया के कई ठिकानों पर धावा बोला, लेकिन वह हाथ नहीं आया।