21 February 2019



प्रादेशिक
पत्नी और सास-ससुर की हत्या कर खुद फांसी पर झूल गया
02-09-2013

इंदौर। पत्नी द्वारा छह माह की बेटी की हत्या से आक्रोशित पति ने पत्नी सहित सास-ससुर की हत्या कर दी और खुद फांसी पर झूल गया। दिल दहलाने वाली यह घटना रविवार दोपहर इंदौर के तुकोगंज थानाक्षेत्र के बख्तगढ़ टावर के फ्लैट में घटी। यहां पांच लाशें मिलने से सनसनी फैल गई। डॉक्टर ने सुसाइड नोट में बेटी की हत्या और पारिवारिक कलह को भी जिम्मेदार ठहराया है।

डीआइजी राकेश गुप्ता के मुताबिक, यहां रेडियोग्राफर डॉ. रोहित द्विवेदी पत्नी डॉ. प्रियंका और बेटी सुही के साथ रहते थे। शनिवार रात उनके ससुर पीसी पांडे और सास सावित्री पांडे भी आए हुए थे। रोहित की सास से अनबन चल रही थी, जिसे लेकर पति-पत्नी में विवाद होते थे। शनिवार को ही पत्नी पटना से लौटी थी और दोनों में सास को लेकर विवाद हुआ था। पत्नी ने तैश में आकर अपनी छह माह की बेटी सुही का गला दबा दिया, उसकी मौत हो गई। इससे रोहित आक्रोशित हो गया और धारदार हथियार से पत्नी पर वार कर दिया। बीच बचाव में सास और ससुर आए तो उनपर भी हमला किया। उनकी मौत होने के बाद परेशान रोहित ने पिता को फोन किया और जबतक वे आते, उसके पहले किचन में जाकर फांसी लगा ली।

पुलिस ने बताया कि रोहित की पत्नी व ससुराल वालों से तनातनी के चलते ही उसके पिता गणेश प्रसाद द्विवेदी शनिवार रात इंदौर पहुंचे थे, लेकिन बेटे का फ्लैट छोटा होने के कारण पत्नी सहित एक होटल में ठहरे थे। सुबह रोहित ने पिता से फोन पर बात की। वह परेशान दिखा और फोन काट दिया। पिता ने कई बार फोन किए तो कोई जवाब नहीं मिला। इस पर वे घर का पता पूछते हुए पुलिस के साथ फ्लैट पर पहुंचे। दरवाजा तोड़कर पुलिस घर में दाखिल हुई तो रक्त रंजित पड़े शव देख सभी के होश उड़ गए।

पुलिस के अनुसार अंदर के कमरे में पत्नी प्रियंका, ससुर पीसी पांडे और सास सावित्री पांडे के शव पड़े थे। दूसरे कमरे में पलंग पर बेटी सुही का शव पड़ा था। पूरे घर में खून फैला हुआ था। इस बात की आशंका है कि बेटी की हत्या गला दबा कर की गई है। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। उन्होंने बताया कि रोहित एक साल पहले ही इंदौर रहने आया था। इसके पहले वह सतना और रीवा में रह चुका है। उसकी पत्नी भी शनिवार को पटना से लौटी थी।

रोहित के पिता ने बताया कि रोहित का वैवाहिक जीवन ठीक नहीं चल रहा था, इसलिए वे सुलह कराने आए थे। उनके समधी-समधन भी इसलिए इंदौर आए थे।

एसपी ओपी त्रिपाठी ने बताया कि पुलिस को किचन में एक सुसाइड नोट मिला है। जिसमें रोहित ने लिखा है कि मेरी पत्नी पागल हो गई है। उसने मेरी बेटी की हत्या कर दी है। हम दोनों के बीचच्अच्छी अंडर स्टैंडिग थी, लेकिन सास के आने के बाद से जीवन तबाह हो गया है।

पिता ने बताया कि प्रियंका का हाल ही में एमजीएम मेडिकल कॉलेज में एसोसिएट प्रोफेसर के पद पर चयन हुआ था, जबकि रोहित किसी निजी संस्थान में रेडियोलॉजिस्ट था।