18 February 2019



प्रादेशिक
जल सत्याग्रह कर रहे कई कार्यकर्ता गिरफ्तार
02-09-2013
बांध प्रभावितों को जमीन के बदले जमीन देने और समुचित पुनर्वास के बाद बांध भरने की मांग को लेकर जल सत्याग्रह कर रही नर्मदा बचाव आंदोलन की वरिष्ठ कार्यकर्ता चितरपा पालित को समर्थकों के साथ पुलिस ने बड़खालिया से गिरफ्तार कर लिया। हरसूद के निकट ब़़डखालिया से धारा 144 का उल्लंघन करने के आरोप में यह कार्रवाई की गई है। इस दौरान पुलिस को प्रभावितों के विरोध का सामना भी करना प़़डा। इसके चलते हल्का बल प्रयोग भी करना प़़डा। इंदिरासागर बांध से प्रभावित तीन जिलों में 1 सितंबर से जल सत्याग्रह को देखते हुए प्रशासन ने भारी पुलिस बल की तैनाती के साथ ही सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए थे। रविवार सुबह इंदिरासागर बांध के बैकवॉटर ब़़डखालिया में आंदोलन के लिए उतरे डूब प्रभावितों के मंसूबे पुलिस ने नाकाम कर दिए। यहां से आंदोलन की चितरपा पालित सहित डूब प्रभावितों को कब्जे में लेकर खंडवा लाया गया। इसके बाद चितरपा पालित को इंदौर भेजा गया। वहीं 6 कार्यकर्ताओं को खंडवा जेल में रखा गया है। इसी तरह हरदा के उवां से भी सैक़़डों आंदोलनकारियों को गिरफ्तार किया गया है। सत्याग्रह जारी रहेगा इधर नर्मदा बचाओ आंदोलन ने इन गिरफ्तारियों के बाद भी सत्याग्रह जारी रखने की बात कही है। साथ ही शासन और प्रशासन के रुख को जलसत्याग्रह को कुचलने की कार्रवाई बताई है।