19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
सिर में दस गोली दाग कर प्रेमी की जान लेने वाली को नहीं मिली जमानत
05-09-2013

मेलबर्न। आस्ट्रेलिया की अदालत ने भारतीय ब्वॉय फ्रेंड की हत्या के आरोप में जेल में बंद आस्ट्रेलियन महिला को गुरुवार को जमानत देने से इंकार कर दिया। महिला पर उसके ब्वॉय फ्रेंड के सिर में दस गोलियां दागकर उसकी जघन्य हत्या करने का आरोप है। कोर्ट का तर्क था कि आरोपी महिला जमानत मिलने पर देश से बाहर जा सकती है। गौरतलब है कि पांच जुलाई को एक आस्ट्रेलियन महिला मेलिसा ली ने अपने प्रेमी श्याम सेम धोडी के सिर में 10 गोलियां मारकर उसकी हत्या कर दी थी। जिसे बाद में पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। श्याम ऑस्ट्रेलिया में क्वींसलैंड के गोल्ड कोस्ट में अपना कारोबार करता था। दो वर्ष पहले वह दिवालिया घोषित हो गया था। पुलिस के मुताबिक मेलिसा को श्याम का साथ रास नहीं आ रहा था। उसके एक अन्य पुरुष एडम जेम्स गूलेय से भी अंतरंग संबंध बन गए थे। जांच में सामने आया है कि मेलिसा ने .22 केलिबर की रिवॉल्वर से सेम की हत्या की थी। जांच में पता चला है कि मेलिसा ने एडम को अपने प्रेमी की हत्या करने को कहा था। जिसके बाद मार्च में एडम ने श्याम से मारपीट की और उसे जान से मारने की धमकी दी थी।

मेलिसा की जमानत याचिका पर आज हुई सुनवाई के बाद अदालत ने कहा कि आरोपी के खिलाफ यह बेहद पुख्ता मामला है हालांकि इस मामले में अभी तक परिस्थितिजन्य सबूत ही सामने आए हैं। बावजूद इसके कोर्ट ने मेलिसा को जमानत देने से इंकार कर दिया। अभियोजन पक्ष का आरोप है कि मेलिसा अपने प्रेमी को छोड़कर वापस अपने पुराने काम देहव्यापार के धंधे से जुड़ना चाहती थी। इसके पीछे उसकी पैसे की ज्यादा से ज्यादा चाह छिपी थी, लेकिन सेम को यह पसंद नहीं था।

हालांकि मेलिसा के वकील ने अभियोजन पक्ष की सभी दलीलों को खारिज करते हुए कहा कि इस बात का कोई सबूत पुलिस के पास नहीं है कि मेलिसा सेम की हत्या के समय उसके पास मौजूद थी। इसके अलावा मेलिसा और ऐडम के संबंधों को लेकर भी कोई सबूत पुलिस के पास नहीं है। लेकिन पुलिस ने मेलिसा की सभी दलीलों को दरकिनार करते हुए उसको जमानत देने से साफ इंकार कर दिया।