17 February 2019



प्रादेशिक
आदिवासी कार्ड भुनाएगी भाजपा
05-09-2013
कांग्रेस द्वारा विधानसभा चुनाव की कमान ज्योतिरादित्य सिंधिया को सौंपे जाने के बाद भाजपा अब आदिवासियों का मुद्दा गरमाने की रणनीति बना रही है। कांग्रेस के इस निर्णय को भाजपा आदिवासियों के अपमान और विश्वासघात के रूप में प्रचारित करेगी। इसके अलावा चुनावी मैदान में पार्टी अब और आक्रामक रख अपनाएगी।

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता विजेन्द्र सिंह सिसौदिया का दावा है कि सिंधिया ने भले ही गुना लोकसभा क्षेत्र से चुनाव जीता हो लेकिन विधानसभा चुनाव में भाजपा 7 सीटों पर जीती थी।

सिंधिया को अपरिपक्व नेता बताते हुए सिसौदिया बोले कि इस निर्णय से भाजपा को कोई फर्क नहीं पड़ता और न ही पार्टी को इससे कोई टेंशन है। सिंधिया के क्षेत्र में ही मंडी, नपा और नगर पंचायत चुनाव में भाजपा अपनी विजयी पताका फहरा चुकी है। उन्होंने कहा कि भाजपा दिग्विजय सिंह पर अपने हमले जारी रखेगी।

दिग्विजय को विधानससभा चुनाव के प्रमुख दायित्व से दूर रखकर कांग्रेस ने भाजपा के उन आरोपों की पुष्टि कर दी कि दिग्विजय सिंह के 10 वर्षीय कार्यकाल में मप्र का बंटाढार हुआ था।