17 February 2019



प्रमुख समाचार
शिक्षा की गुणवत्ता को और अधिक मजबूत बनाया जायेगा : श्री चौहान
16-09-2013

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि शिक्षा की गुणवत्ता को और अधिक मजबूत बनाना है। उन्होंने कहा कि इस दिशा में प्रयास हो रहे हैं। शिक्षकों के सहयोग से अगले पाँच वर्षों में मध्यप्रदेश देश की पहली पंक्ति के राज्यों में खड़ा होगा। श्री चौहान ने यह बात उनका अभिनंदन करने के लिये आये अध्यापक संघ के पदाधिकारियों से चर्चा में कही।

श्री चौहान ने कहा कि उन्होंने नया मध्यप्रदेश गढ़ने की चाह के साथ कार्य किया है। वर्ष 2003 से यदि आज की स्थिति की तुलना की जाये तो सभी क्षेत्रों में चाहें बिजली, सड़क, पानी, आधारभूत सुविधाओं की हो अथवा खेती को लाभ का धंधा बनाने की, सभी क्षेत्रों में जमीन आसमान का अंतर आ गया है।

उन्होंने कहा कि शिक्षकों को समान कार्य के लिये समान वेतन आदि के महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये हैं। प्राथमिकता शिक्षा की गुणवत्ता के लिये संकल्पित होकर एक जुट प्रयास की है। उन्होंने कहा कि उनका सपना है कि अगले पाँच वर्षों में ग्रामीण अंचल में लघु एवं कुटीर उद्योग धंधों का जाल बिछे। खेती के अलावा रोजगार के नये अवसर उपलब्ध हो।

अध्यापक संघ के अध्यक्ष श्री मुरलीधर पाटीदार ने कहा कि राज्य सरकार ने शिक्षकों के कल्याण के लिये वह किया है जो किसी ने सोचा भी नहीं था। समान कार्य के लिये समान वेतन की व्यवस्था से शिक्षकों का भविष्य सुरक्षित हुआ है उनके लिये स्थायी व्यवस्था हुयी है।

उन्होंने मुख्यमंत्री के प्रति आभार ज्ञापित करते हुये शॉल-श्रीफल से उनका सम्मान किया और अभिनंदन पत्र भेंट किया। अभिनंदन पत्र का वाचन श्री शैलेन्द्र त्रिपाठी ने किया। इस अवसर पर अध्यापक संघ के प्रदेश संयोजक श्री बलराम पवार, प्रांतीय महासचिव श्रीमती मीना वर्मा सहित विभिन्न जिलों, ब्लॉक के पदाधिकारी उपस्थित थे।