19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
अमेरिका में पहले भी हो चुकी हैं फायरिंग की घटनाएं
17-09-2013

न्यूयॉर्क। अमेरिका में पछले एक दशक में कई गोलीबारी की घटनाएं देखने को मिली हैं। इनमें कई लोगों की जान भी जा चुकी है। पिछले वर्ष ही अगस्त में सिक्खों के विसकंसिन स्थित गुरुद्वारे में हुई गोलीबारी की घटना में करीब छह लोगों की मौत हो गई थी। पेश है पिछले एक दशक में हुई कुछ बड़ी गोलीबारी की घटनाओं पर एक नजर :-

पढ़ें: अमेरिकी नौसैनिक अड्डे पर हमले में 12 मरे

14 दिसंबर, 2012 : न्यूटन (कनेक्टीकट) में एक प्राथमिक स्कूल में एक बंदूकधारी ने अंधाधुंध गोलियां चलाकर करीब 30 लोगों को मौत के घाट उतार दिया। मरने वालों में अधिकांश बच्चे।

20 जुलाई, 2012 : कोलोराडो के एक सिनेमाघर में एक बंदूकधारी ने गोलियां बरसाकर करीब 12 लोगों को मार दिया। 24 वर्षीय हमलावर जेम्स होम्स को पकड़ लिया गया।

5 नवंबर, 2009 : मेजर निदा मलिक हसन ने फोर्ट हुड, टेक्सास में गोलीबारी कर 13 लोगों की हत्या कर दी। उस हमले में 32 लोग घायल हो गए। हसन को पकड़ लिया गया।

3 अप्रैल, 2009 : अप्रवासी समुदाय केंद्र की एक बिल्डिंग में एक हमलावर ने 13 को गोलियों से भूना। बाद में उसने भी खुदकुशी कर ली।

10 मार्च, 2009 : अलाबामा में एक 28 वर्षीय युवक ने 10 की गोली मारकर हत्या करने के बाद आत्महत्या कर ली। मरने वालों में उसकी मां, दादा-दादी और चाचा-चाची शामिल।

16 अप्रैल, 2007 : वर्जीनिया टेक कैंपस में 23 वर्षीय छात्र ने दो स्थानों पर गोलियां बरसाकर 32 को मार दिया। उसने भी आत्महत्या कर ली।