21 February 2019



प्रादेशिक
एमबीबीएस और इंजीनियरिंग के छात्र निकले मुन्नाभाई
17-09-2013
व्यावसायिक परीक्षा मंडल [व्यापमं] की पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में पकडे़ गए मुन्नाभाइयों में एमबीबीएस और इंजीनियरिंग के छात्र भी शामिल हैं। इनका सरगना भी रीवा मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस कर रहा है। इसे भी एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया है। एसटीएफ को पता चला है कि एक छात्र से आरोपी चार लाख पए तक लेते थे।

एसटीएफ के एआईजी कमल मौर्य ने बताया कि रविवार को भोपाल के विभिन्न परीक्षा केन्द्र से नीरज मिश्रा निवासी इलाहाबाद, अनिल यादव निवासी कानपुर, अजीत चौधरी निवासी मथुरा, फूल कुमार निवासी मुरादाबाद, अजय सिकरवार निवासी मुरैना और धर्मेश सिंह को गिरफ्तार किया है।

पूछताछ में पता चला है कि नीरज मिश्रा एमबीबीएस फोर्थ इयर का छात्र है, जबकि अजय सिकरवार बीई का छात्र है। फूल कुंवर और देवेन्द्र एमए बीएड कर चुके हैं। गिरफ्तार आरोपियों ने बताया कि वे एक छात्र से परीक्षा में शामिल होने के बदले चार लाख पए तक लेते थे।

मौर्य ने बताया कि इस रैकेट का सरगना रीवा मेडिकल कॉलेज का छात्र प्रदीप त्यागी है। मुरैना निवासी प्रदीप की आरोपियों से दोस्ती यूपी के ही एक छात्र के जरिए हुई थी। फिलहाल इस छात्र के नाम का खुलासा एसटीएफ नहीं कर रही है। इसके नाम का खुलासा गिरफ्तारी के बाद ही किया जाएगा।

26 तक पुलिस रिमांड पर

एसटीएफ ने इस मामले में गिरफ्तार सभी आरोपियों को सोमवार को कोर्ट में पेश किया।

एसटीएफ ने कोर्ट में दलील दी कि इनसे पूछताछ कर पूरे रैकेट का खुलासा किया जाना है, लिहाजा इनकी रिमांड दी जानी चाहिए। जिसे स्वीकार करते हुए कोर्ट ने इन्हें 26 सितंबर तक की रिमांड पर सौंप दिया है।