21 February 2019



प्रादेशिक
दिग्गी और आसाराम के खिलाफ बहस टली
17-09-2013

इंदौर। सोमवार को विशेष न्यायाधीश डीएन मिश्र की कोर्ट में आरोपी आसाराम, नारायण साई, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह व अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए बहस होना थी, लेकिन, न्यायिक कर्मचारियों की हड़ताल के चलते सुनवाई टल गई। परिवाद दिग्विजय सिंह भंडारी ने बताया कि यौन उत्पीड़न के आरोपी आसाराम को गुरुदक्षिणा में भूमि देने का मामला पेश किया था। 1998 में दिग्विजय सिंह ने मध्य प्रदेश शासन के स्वामित्व की 6.859 हेक्टेयर भूमि आसाराम के निजी न्यास को प्रदान की थी। इसका बाजार मूल्य 5 करोड़ रुपए था। इसके बावजूद उन्हें यह भूमि एक रपए वार्षिक भू-भाटक पर दी। इससे सरकारी खजाने को करोड़ों रुपए की क्षति पहुंची। अब बहस 23 सितंबर को होगी।